टोक्यो 2020 ऑर्गेनाइजिंग कमिटी ने खेल में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को 1.6 लाख कंडोम बांटे। यह खेल के दौरान नहीं बल्कि खेल की समाप्ति पर दिए गए खिलाड़ियों को।

टोक्यो ने अपने चलन को जारी रखते हुए इस बार भी खेल में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को कंडोम बांटे। पिछली बार के मुताबिक इस बार कुछ बदलाव देखने को मिले हैं। इस बार खिलाड़ियों से कहा गया कि इस कंडोम का इस्तेमाल ना करें बल्कि अपने घर वापस ले जाएं एक स्मृति चिन्ह के रूप में।

एक जापानी एजेंसी के मुताबिक कोरोना को मद्देनजर रखते हुए यह बदलाव लाए गए हैं। खिलाड़ियों को कहा गया था कि वह किसी तरह की सोशल गैदरिंग का हिस्सा ना बने ताकि वह कोरोना से संक्रमित ना हो जाए। उन्होने कहा ‘सामाजिक संपर्क प्रतिबंधित होने और एथलीटों को अपने-अपने बायो-बबल में रहने के लिए बाध्य होने के कारण, अधिकारी वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कदम उठा रहे है’।

IOC ने टोक्यो स्पोर्ट्स के हवाले से कहा, “हमारा इरादा और लक्ष्य एथलीटों के लिए ओलंपिक गांव में कंडोम का उपयोग करने का नहीं है, बल्कि उन्हें अपने देश वापस ले जाकर जागरूकता में मदद करने का है.”

आयोजकों द्वारा जारी किए गए गाइडलाइंस में साफ-साफ कहा गया था कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और 2 मीटर की दूरी बनाए रखें ताकि कोरोना संक्रमण से खिलाड़ी बचे रहें और कोरोना की वजह से खेल में किसी तरह की बाधा ना आए। गले मिलने या हाथ मिलाने की भी सख्त मनाई थी।

इतना ही नहीं इसके साथ ही खिलाड़ियों को अपने प्रवास के दौरान ओलंपिक गांव को छोड़ने की अनुमति भी नहीं थी। खिलाड़ियों की मेडिकल सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *