जब तक लड़कियां स्कूल जाती हैं तब तक उन्हें स्कूल के अनुशासन का पालन करना पड़ता है लेकिन जैसे ही वो कॉलेज जाना शुरू करती हैं I मानों उनके लिए एक नया जीवन शुरु हो गया। कॉलेज में आते ही लड़के-लड़कियों के बीच एक खास तरह की बॉडिंग बननी शुरू हो जाती है। यही वो समय होता है जब दोनों अपनी पसंद से कुछ भी पहन सकते हैं या अपने कुछ खास दोस्त बना सकते हैं।

क्यों बनाती है लड़कियां बॉयफ्रेंड ?

लड़कियों के मन में कुछ ऐसी बाते होती हैं जो वो अपने माता-पिता या किसी रिश्तेदार से शेयर नहीं कर पाती हैं I वो अपने मन की बात अपनी सहेलियों से भी खुलकर नहीं बोल पाती हैं ऐसे में उन्हें एक ऐसे साथी की जरूरत होती है जिससे वो खुलकर अपने मन की सारी बातें कह सके I इसके साथ ही कॉलेज जाते ही ज्यादातर लड़कियों में एक बॉयफ्रेंड पाने की इच्छा जागने लगती है आइए हम आपको बताते हैं कुछ दिलचस्प रीजन्स जो बताते हैं कि आखिर क्यों लड़कियों को कॉलेज में चाहिए ब्वॉयफ्रेंड।  

अकेलापन दूर करने के लिए

कुछ लड़कियों को घूमने फिरने का बहुत शौक होता है भले ही स्कूल में वो अपने इस अरमान को दबाकर रखती हैं लेकिन जैसे ही कॉलेज पहुंचती हैं उनकी ये तमन्ना जाग जाती है I लड़के-लड़कियों का ध्यान घूमने-फिरने में ज्यादा होता हैं। ऐसे में आपकी बेस्ट फ्रेंड अपने ब्वॉयफ्रेंड को छोड़कर आपके लिए हमेशा फ्री रहे ये जरूरी नहीं हैं। अपने अकेलेपन को दूर करने के लिए भी लड़कियां ब्वॉयफ्रेंड बनाती हैं।  

फिल्मों से प्रेरित होकर

आजकल के युवाओं पर फिल्मों और टीवी का नशा कुछ ज्यादा ही चढ़कर बोलता है I ऐसे में कॉलेज जानेवाली लड़कियां जब किसी फिल्म या टीवी शो में कपल्स को देखती हैं तो उन्हें भी यह महसूस होता है कि काश उनका भी कोई बॉयफ्रेंड होता I मूवी देखकर लड़कियां भी अपने ब्वॉयफ्रेंड में शाहरूख खान देखने लगती हैं।

सुरक्षा की भावना के चलते

ब्वॉयफ्रेंड के साथ होने से लड़कियां खुद को बेहद महफूज फील करती हैं। उन्हें लगता हैं कि अगर उनका ब्वॉयफ्रेंड उनके साथ होगा तो कोई उनके साथ गलत व्यवहार नहीं कर पाएगा।  अक्सर लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड के साथ कहीं बाहर जाने में खुद को ज्यादा सुरक्षित महसूस करती हैं I उनके मन में यह विश्वास होता है कि जब तक उनका बॉयफ्रेंड उनके साथ है उन्हें डरने की जरूरत नहीं है और ना ही कोई उन्हें परेशान कर सकता है I

फैशन और जरूरत के मुताबिक

हालांकि बॉयफ्रेंड बनाना आज के दौर में फैशन के साथ जरूरत भी बन गया है I शायद इसलिए कॉलेज जानेवाली ज्यादातर लड़कियों के बॉयफ्रेंड होते हैं I
कहा जाता है कि अक्सर लड़के ही लड़कियों की तरफ दोस्ती और प्यार का पहला कदम बढ़ाते हैं लेकिन ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि लड़कियां ही पहले इस ओर कदम बढ़ाती हैं I

अपने दिल की बात शेयर करने के लिए

अधिकांश लड़कियां फैशन और अपनी जरूरतों के मुताबिक बॉयफ्रेंड बनाती हैं I यही वजह है कि कॉलेज जाते ही ज्यादातर लड़कियों के मन में बॉयफ्रेंड पाने की ललक जाग उठती है I कई बार बहुत सी ऐसी बातें होती हैं जो लड़कियां अपने पैरेंट्स से शेयर नहीं कर पाती हैं। ऐसे में उन्हें एक दोस्त की तलाश होती हैं जिसके साथ वो अपनी सारी बातें शेयर कर सके। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *