हम सभी जानते हैं कि बुधवार का जो वार है वह माता दुर्गा का अवतार माना जाता है। पुराणों के हिसाब से बुध ग्रह का वाहन भी सिंह है। इस ग्रह की तुलना शक्ति से की जाती है।

जिस प्रकार मां दुर्गा अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए सिंह पर सवार होकर अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए निकलती है। उसी तरीके से बुध ग्रह भी अपने सिंह पर सवार होकर सृष्टि में विचरण करते हैं। और जो उनको मानते हो उनकी रक्षा करते हैं।

हम इस इस अध्याय में ही जानेंगे कि लाल किताब के हिसाब से माता दुर्गा की क्या रहस्य है।

लाल किताब के पहले रहस्य के अनुसार मां दुर्गा का मालिक बुध ग्रह है। इसीलिए जो है बुधवार के दिन माता की पूजा की जाती है। जो भी भक्त मां की पूजा बुधवार के दिन करते हैं उनकी सारी मनोकामना मां पूर्ण करती है।

दूसरे रहस्य के हिसाब से यह कहना कि पहले मां पैदा हुई या बेटी बहुत मुश्किल है। इसलिए लाल किताब यह कहती है कि दोनों ही बुध है। और आप इसका मतलब इसका मतलब यह हुआ कि आपकी माता और आपकी बेटी दोनों बुध हैं ।

तीसरे रहस्य के हिसाब से लाल किताब कहती है कि आपकी बहन भी जो है वह बुध है। का मतलब यह हुआ कि आपकी बहन को भी बुध का रूप माना जाता है तो उसकी भी पूजा की जा सकती है।

लाल किताब की कहती है कि जब आपकी बेटी आपकी बेटी होती है तब तक वह बुध है जब वह। जब वह स्वयं मां बन जाती है तू चंद्र हो जाती है। इसका मतलब यह हुआ कि बुद्धू और चंद्र दोनों मां बेटी हैं।

पांचवे रहस्य के अनुसार लाल किताब यह बोलती है कि यदि आपके किसी प्रकार के कष्ट हैं। तो आप बुधवार के दिन प्रार्थना करिए मां दुर्गा की । आपकी प्रार्थना से मां खुश होगी और मां खुश होगी तो बुध ग्रह अपने आप खुश हो जाएंगे। और आपके सारे कष्ट मिट जाएंगे और बुध ग्रह है आपको अच्छा फल देगा।

आपको रोज नंगे पैर मां दुर्गा के मंदिर जाना है। और वहां पर जाकर आपको दुर्गा चालीसा के पाठ करने हैं। दुर्गा सप्तशती के पाठ भी करने जरूरी है। ऐसा करने से मां खुश होती है और वह आपको जो आप जो आपकी इच्छा है उसका वरदान देती है।

घर की सभी कन्याओं को खुश रखना है बहन, बेटी, बुआ सब लोगों को खुश रखना है। कन्याओं की हर खुशी को आप पूरा करेंगे तो आपको मां प्रसन्न होगी और आप आपको।

बुधवार के दिन आपको मां दुर्गा के मंदिर जरूर जाना है। आपको वहां पर हरे रंग की चूड़ियां चलानी है। हो सके तो 9 कन्याओं को हरे रंग के रुमाल बांटे। और हमेशा याद रखें कि आप हरे रंग का रुमाल अपने पास भी रखें। ऐसा करने से मां दुर्गा खुश होती हैं और वह आपको मनचाहा वरदान देती है।

कोई भी महिला यदि अपने नाक में छेद करवा रही हैं तो वह ध्यान रखें कि बुधवार के दिन ही ऐसा करें। ऐसा करने के बाद अगले दिन वह कुछ ना कुछ भिखारी में या किसी भी जगह कुछ दान करें। शुरुआती 43 दिनों तक नाक के अंदर चांदी की तार को डाले रखें।

आपको ध्यान रखना है कि बुधवार के दिन झूठ नहीं बोलना है। आपको हरी मूंग की जो साबुत मूंग उनको दान करना है। बुधवार के दिन गाय को हरा चारा भी जरूर खिलाएं। बुधवार के दिन तुलसी का गिरा हुआ पता दोपहरी दिखाएंगे तो यह शुभ होता है। इससे आपकी पूरी सब मनोकामनाएं पूरी होती है।

दोस्तों मां दुर्गा के अनेकों अवतार हैं । मां दुर्गा सब कुछ सब कुछ देती है जो उनके भक्त मांगते हैं। आप मां की पूजा करें उनको प्रार्थना करें और यह कोशिश करें कि सब लोग सुखी रहें संपन्न रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *