आज की तेज भागती जिंदगी में हम अपने स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रखते हैं। अनियमित शैली,खानपान, मानसिक स्थिति, काम के प्रेशर के साथ कुछ जटिल समस्याओं का सामना पुरुष वर्ग को करना पड़ रहा है। एक हाल ही में प्रकाशित हुई एक अध्ययन के अनुसार। पुरुष वर्ग में कम उम्र में ही स्पर्म काउंट कम कम हो रहा है। इस रिपोर्ट के अनुसार क्या मुख्य कारण है, जिससे कारण ऐसी स्थिति पैदा हो रही है कि 90% पुरुषों में बहुत कम उम्र में स्पर्म काउंट कम हो रहा है। उनकी मर्दाना ताकत कम हो रही है।

पुरुषों की मुख्य समस्या है शुक्राणु की कमी है। आज इस लेख में हम बताएंगे। कि वह कौन से ऐसे कारण हैं जिनके कारण की समस्याएं उत्पन्न हो रही है। शुक्राणु शुक्राणु की कमी से पुरुषों में प्रजनन की क्षमता कम हो जाती है। और यह भी देखा गया है कि विवाहित जीवन में अशांति आ जाती है। विवाहित जीवन को आनंदमय बनाने के लिए शुक्राणु की मात्रा का ज्यादा होना बहुत ही आवश्यक हैं।

पुरुषों की यह 8 आदतें बढ़ाती है मर्दाना कमजोरी

1. धूम्रपान

आजकल हम आसपास देख रहे हैं। बहुत ही युवावस्था में युवक व युवतियां धूम्रपान कर रहे हैं। धूम्रपान को वह अपने आप में। अपने। जीवन शैली को एक महत्वपूर्ण भाग मांगते हैं। और धूम्रपान करके अपने आपको गौरवान्वित महसूस करते हैं। पर आपको बता दें कि धूम्रपान सबसे बड़ा कारण है। जो कि शुक्राणु की कमी कर देता है।

2. टाइट कपड़े पहनना

कुछ लोग आजकल बहुत ही टाइट कपड़े पहनते हैं। टाइट कपड़ों से अंडकोष गर्म रहता है। अंडकोष के गर्म होने से वहां शुक्राणु नहीं बनते हैं। शुक्राणु की कमी होने लगती है। इसलिए सभी को आरामदायक कपड़े पहनना चाहिए।

3. शुद्ध आहार

आजकल देखा गया है कि लोग शुद्ध शाकाहारी भोजन नहीं करते हैं। और गरिष्ठ भोजन ज्यादा करते हैं। गरिष्ठ भोजन करने से शरीर की सारी पाचन क्रिया सही से काम नहीं कर पाती है। कुछ लोग फिट रहने के लिए पाउडर का उपयोग करते हैं। पर हम बता दें कि जो बाहर के सप्लीमेंट होते हैं, उनसे बहुत नुकसान होता हैं और शुक्राणु को कम करते हैं। इसलिए सब लोग स्वस्थ और शुद्ध भोजन करें।

4. शराब का सेवन

अत्यधिक रूप से शराब का सेवन भी पुरुष शुक्राणु को कम करता है। ज्यादा शराब पीने से शरीर में हार्मोन चेंज होते हैं। इसके कारण अंडकोष में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम बनती है। तो अत्यधिक रूप से शराब का सेवन ना करें।

5. गर्म पानी से स्नान करना

हम सभी सर्दियों में गर्म पानी से नहाना पसंद करते हैं। आपको जानकर यह आश्चर्य होगा कि गर्म पानी से भी शुक्राणुओं की संख्या में भारी गिरावट देखी गई। इसलिए आप कोशिश करें कि आपको ढंडे पानी से नहाना है।

6. ज्यादा समय तक लैपटॉप पर काम करना

रिपोर्ट के अनुसार, अंडकोष का तापमान शरीर के तापमान से 2 डिग्री कम होना चाहिए। जब हम लोग ज्यादा देर तक लैपटॉप पर काम करते हैं। तो हम लैपटॉप को अपने पैरों पर रखकर काम करते हैं।

ऐसे में जो है अंडकोष का तापमान बढ़ जाता है। जैसा कि हमने आपको बताया कि अंडकोष का तापमान बढ़ने से शुक्राणु की संख्या में कमी होती है। इसलिए कोशिश करें कि आप को लैपटॉप पर ज्यादा देर तक काम नहीं करना है। आपको यदि आपको करना पड़ रहा है तो आप उसको स्टडी टेबल के ऊपर रखकर उस से काम करें।

7. पेंट की जेब में मोबाइल रखना

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हम अपना फोन जो है रोज पूरे दिन अपने पेंट की जेब में रखते हैं। फोन से निकलने वाली रेडिएशन हमारे पुरुष गुप्तांग से होकर निकलती है। इन विक्रम कोई कारण जो है शुक्राणुओं में कमी आती है। एक ताजा रिपोर्ट के हिसाब से, शुक्राणु की कमी 9% अधिक हो सकती है।

8. शरीर को आराम ना देना

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में सब हर कोई पैसा कमाने में लगाए। किसी को भी आराम नहीं है। आपको बता देना शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने के लिए कम से कम 8 घंटे की नींद बहुत जरूरी है। आपको मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ होना पड़ेगा। यदि आप कम से कम 8 घंटे की नींद नहीं लेते हैं तो इसमें आपको बहुत बड़ा दुष्प्रभाव देखने को मिल सकता हैं।

अभी की ताजा रिपोर्ट ओं के हिसाब से। यदि आप सुबह योगा करते हैं। और पौष्टिक भोजन लेते हैं। तो आप शारीरिक रूप से सुदृढ़ हो जाए हो जाते हैं। साथ ही आप मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ हो जाते हैं। यदि आप ऐसा करेंगे तो आप अपने पुरुष। होने का पूरा फायदा ले सकेंगे। और छोटी अवस्था में आपके शुक्राणु में कोई कमी नहीं आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *