जीवन में प्रेरणादायक कहानियों  का एक अलग ही महत्त्व है I जीवन में अक्सर ऐसे क्षण आते हैं, जब हम स्वयं को निराशा के भंवर में फंसा पाते हैं. ऐसे में किसी के बोले गए प्रेरक शब्द या कहीं लिखे प्रेरक वाक्य या फिर प्रेरणादायक  कहानियां। हमें निराशा के उस भंवर से बाहर निकालकर नए जोश का संचार करती है।  एक ऐसी कहानी से आपको परिचित  कराता हूं।

एक बार एक नौजवान लड़के ने सुकरात से पूछा कि सफलता का रहस्य क्या  है? सुकरात ने उस लड़के से कहा कि तुम कल मुझे नदी के किनारे मिलो, अगले दिन सुबह ही  वह लड़का नदी के किनारे पहुंच गया।  सुकरात ने नौजवान से उनके साथ नदी की तरफ बढ़ने को कहा और जब आगे बढ़ते-बढ़ते पानी गले तक पहुँच गया, तभी अचानक सुकरात ने उस लड़के का सर पकड़ के पानी में डुबो दिया Iलड़का बाहर निकलने के लिए संघर्ष करने लगा , लेकिन सुकरात ताकतवर थे और उसे तब तक डुबोये रखे जब तक की वो नीला नहीं पड़ने लगा

फिर सुकरात ने उसका सर पानी से बाहर निकाल दिया और बाहर निकलते ही जो चीज उस लड़के ने सबसे पहले की वो थी हाँफते-हाँफते तेजी से सांस लेना तब सुकरात ने उस लड़के से पूछा।  जब तुम नदी में डूब रहे थे। तो तुम सबसे ज्यादा क्या चाहते थे?”लड़के ने उत्तर दिया,”सांस लेना”सुकरात ने कहा,” यही सफलता का रहस्य है I जब तुम सफलता को उतनी ही बुरी तरह से चाहोगे जितना की तुम सांस लेना  चाहते थे  तो वो तुम्हे मिल जाएगी” इसके आलावा और कोई रहस्य नहीं है I

दोस्तों,  जब आप लोग  जो भी चाहते हो वह आपको मिल जाती है।  उदाहरण के लिए। छोटे बच्चों को चॉकलेट की आवश्यकता होती है तो उन्हें चॉकलेट मिल जाती है।  खिलौनों की  आवश्यकता होती तो उन्हें खिलौना मिल जाता है। जैसे छोटे बच्चों को देख लीजिये   यह बच्चे  भविष्य की नहीं सोचते  अपने वर्तमान में ही जीते रहते हैं।।ने पूछा  अपने भविष्य की नहीं सोचते।जब उन्हें खेलने के लिए कोई खिलौना चाहिए होता है या खाने के लिए कोई टॉफ़ी चाहिए होती है…तो उनका पूरा ध्यान, उनकी पूरी शक्ति बस उसी एक चीज को पाने में लग जाती है I

आपकी  सफलता के पीछे आपकी सोच बहुत जरूरी है।जैसा आप सोचते है जैसी आपके मन की भावना होती है ठीक आप वैसा बन जाते है इसीलिए मित्रो सबसे पहले अपनी  सोच को पॉजिटिव बनाएं। सफलता के बारे में सोचे कहा क्या करने से क्या समस्या आती है उनको किसी दूसरे ढंग से करने की   सोच बनाएं। यानि आपकी सोच एक सबसे बड़ा मूल मंत्र है सफलता का।

सफलता का पहला रहस्य जुनून यानि एक तरीके का भूत सवार होना… अगर आपको किसी भी काम में  सफल होना है तो आपको उसके प्रति जुनून पैदा करना होगा एक तरह का पागलपन दिखाना होगा फिर कही जाकर आपको सफलता मिलनी स्टार्ट होती है.

आपको अपनी कुछ आदतों को छोड़कर  नई आदते अपनानी होंगी कुछ छोटी-छोटी चीजो का बलिदान देना होगा वही आदते  हमारी सफलता का राज  है।

जीवन में सफलता पाने के लिए मनुष्य का संयत होना भी जरूरी है। संयमहीन मनुष्य उस नाविक की तरह है, जिसके पास कंपास न हो, हवा का झोंका जिधर चाहे, बहा ले जाए। क्रोध का हर झोंका और अविचार की हर तरंग उसे इधर से उधर बहा ले जाती है और उसे अपने लक्ष्य तक पहुँचने में कठिनाई होती है। ईमानदारी सबसे बड़ी संपत्ति है। इसके सामने सोना-चाँदी की थैली बेकार है। उसी प्रकार व्यवहार-कुशलता मनुष्य को व्यक्ति दूसरे का विश्वासभाजन एवं प्रीतिभाजन शीघ्र ही बन जाता है और इससे भी जीवन में सफलता प्राप्ति सहज हो जाती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *