हार्ड अटैक से हुई रोहित सरदाना की मौत
आज शुक्रवार 30 अप्रैल 2021 को जैसे ही यह खबर आई कि टेलीविजन जगत के बड़े पत्रकार रोहित सरदाना अब इस दुनिया में नहीं रहे, साथ पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गई। मिली जानकारी के मुताबिक वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना कोरोना से संक्रमित थे। हालात गंभीर होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, अस्पताल में भर्ती रोहित सरदाना को हार्टअटैक आने की वजह से उनका निधन हो गया। हालांकि, यह भी सच है कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे।

सभी ने जताया शोक
सोशल मीडिया पर रोहित की मौत की खबर आते ही मातम छा गया. रोहित सरदाना इन दिनों आज तक न्यूज चैनल में एंकर के तौर पर काम कर रहे थे. रोहित सरदाना की मौत को लेकर पत्रकार सुधीर चौधरी ने भी ट्वीट कर जानकारी दी रोहित की मौत पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने शोक जताया।

सभी के पसंदीदा एंकर थे रोहित
सोशल मीडिया पर इस खबर के फैलते ही लोग सदमे में आ गए. कई लोगों को तो एक पल को यकीन ही नहीं हुआ कि रोहित अब हमारे बीच नहीं रहे. यूजर्स ना सिर्फ इस दुखद खबर को एक दूसरे से शेयर कर रहे हैं बल्कि इस पर तरह-तरह के कमेंट और रिएक्शन भी दे रहे हैं. ट्विटर पर रोहित सरदाना नंबर 1 पर ट्रेंड कर रहा है. लोग नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दे रहे हैं. रोहित सरदाना, भारत के सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले, ऊर्जावान एंकर में से एक रहे हैं. रोहित ने डेढ़ दशक के अपने करियर में अपनी एंकरिंग से हिंदुस्तान के कोने-कोने में अपने नाम का परचम लहराया.

हरियाणा में जन्मे, नोएडा थी कर्मभूमि
रोहित का जन्म 22 सितंबर को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में हुआ था। स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद वो हिसार चले गए और गुरु जम्बेश्वर विश्वविद्यालय विज्ञान प्रौद्योगिकी में एडमिशन लिया। पहले उन्होंने मनोविज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल की, उसके बाद उसी यूनिवर्सिटी से मास कम्युनिकेशन में मास्टर्स किया। मौजूदा वक्त में रोहित नोएडा में स्थित न्यूज चैनल आज तक में काम कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने सहारा, जी न्यूज जैसे संस्थानों में सेवाएं दी थी। 2018 में ही रोहित सरदाना को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया था।

अंतिम वक्त तक की लोगों की मदद
कोरोना से संक्रमित होने के बाद भी रोहित ने लोगों की मदद करनी नहीं छोड़ी थी। उन्होंने निधन से 12 घंटे पहले यानी गुरुवार रात 8.45 पर उन्होंने एक ट्वीट किया था। जिसमें कानपुर में भर्ती करुणा श्रीवास्तव नाम के मरीज के लिए मदद मांगी गई थी। उनके निधन के बाद सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोगों ने ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है।

अभी अभी मुझे यह
दुःखद समाचार प्राप्त हुआ,
इस दुःख भरे कोरोना के समय में
ईश्वर आपको और आपके
परिवार को इस दुःख से लड़ने का साहस दे …. ॐ शान्ति ॐ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *