दुनिया में बहुत सारे रईस हैं जो अपनी मौत के बाद अपने कुत्ते-बिल्लियों या अपने दूसरे जानवरों को लावारिस नहीं छोड़ना चाहते ,वे उनके नाम भी काफी हिस्सा छोड़ जाते हैं I Karl Lagerfeld ने भी मौत के बाद उनकी पालतू बिल्ली Choupette को भी जायदाद का बड़ा हिस्सा मिला Choupette आज करोड़ों की मालकिन है।

Choupette करोड़ों की मालकिन


आजकल दुनिया में जानवरों से बहुत लगाव है, कहीं व्यक्ति तो कुत्ते बिल्लियों को अपनी संतानों की तरह रखते हैं। वह उन्हें उतना ही प्यार करते हैं , जितना कि अपनी संतान को।कई सारे रईस हैं जो अपनी मौत के बाद अपने कुत्ते-बिल्लियों या अपने दूसरे जानवरों को लावारिस नहीं छोड़ना चाहते हैं।

दुनिया के सबसे बड़े फैशन डिजाइनर Karl Lagerfeld के पास भी एक पालतू बिल्ली थी। जो मरने से पहले सारी संपत्ति उसके नाम कर गए। वे अकेली नहीं, ऐसे कई पालतू हैं, जिनके मालिकों ने अपनी वसीयत में उन्हें भी हिस्सेदार बनाया I क्या आप जानते हैं, जानवरों के नाम हुई इस प्रॉपर्टी का क्या होता है

पेट ट्रस्ट करता है देख रेख।

जानवर तो पढ़-लिख नहीं सकते, वे तो खरीदारी नहीं कर सकते I जानवरों की इस प्रॉपर्टी का ध्यान रखने के लिए पेट ट्रस्ट बनाया जाता है इस ट्रस्ट के नाम जायदाद इसलिए की जाती है ताकि वो जानवर की जरूरतों का उसी तरह से ध्यान रख सके, जैसा मालिक के जिंदा रहते में होता आया हो I

इसमें ट्रस्ट का इंतजाम ऐसे होता है कि ट्रस्टी की जानकारी में ही बिल्ली को जरूरत का सारा सामान मिलता है I ट्रस्टी के पास फंड होता है जो उसे जानवर के वर्तमान केयरटेकर को देता है I ये ट्रस्टी की जिम्मेदारी होती है कि वो ये पक्का करे कि जानवर के पास उसकी जरूरत के मुताबिक सारी चीजें आ रही हैं या नहीं I पशु की मौत के बाद ट्रस्टी ही फंड को किसी चैरिटी में दे सकता है जो जानवरों की देखभाल करती हो I या फिर ये पैसे कहीं और खर्च किए जा सकते हैं

Choupette जो अब करोड़ों की मालकिन

अब कहानी उस बिल्ली Choupette की, जो अब करोड़ों की मालकिन है I बर्मीज मूल की इस बिल्ली के पास अपनी खुद की अच्छी-खासी संपत्ति है I इंस्टाग्राम पर 250,000 से ज्यादा फॉलोवर रखने वाली इस बिल्ली के पास लगातार ब्यूटी प्रोडक्ट्स के विज्ञापनों में काम के प्रस्ताव आते रहते हैं I साथ ही एक फ्रेंच कार मॉडल की एंबेसेडर है I यहां तक कि इस बिल्ली पर 2 किताबें तक लिखी जा चुकी हैं I

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *