भारत के केरला राज्य की रहने वाली इस महिला ने किया IAS के एग्जाम को क्रैक किया हैं । इस महिला ने अपनी ज़िंदगी में बहुत स्ट्रगल किया है। बचपन से ही इसका सपना था कि वह 1 आईएएस (IAS) अधिकारी बने लेकिन ये सपना कुछ समय के लिए मानो उसके लिए रुक-सा गया हो. इसलिए क्योंकि जब इस महिला की कॉलेज लाइफ शुरू हुई तो कुछ समय बाद इसे महिला को 1 लड़के से प्यार हो गया और वह अपने मुकाम से बथक गयी और प्यार के चक्र में पढ गयी.

वे दोनों एक-दूसरे से इतना प्यार करते थे कि उन्होंने घर से भाग कर शादी कर ली थी क्योंकि उस लड़की को लगता था कि उसके घर वाले उसे कभी भी नहीं अपनाएगे यही कारण था जिसकी वज़ह से इस लड़की ने भाग कर शादी कर ली उस लड़के से ओर शादी के बाद वह दोनों बहुत खुश थे.

एक बार इसके पति इससे पूछा कि तुम्हारा क्या सपना था तो इस लड़की ने बोला कि “मुझे बचपन से ही IAS ऑफीसर बनना था” . तभी उस लड़के ने बोला कि तुमने अपना ये सपना छोड़ क्यों दिया तो उस लड़की ने कुछ भी जवाब नहीं दिया था.

IAS कुमारी के पति ने उसे वापिस मोटीवेट किया और फिर से IAS की तैयारी की शुरुवात करने के लिए कहा. यह सुनकर वह बहुत खुश हुई और अगले ही दिन से वापिस से आने वाले एग्जाम की तैयारी करना शुरू कर दी. लेकिन 1 दिन वह हिम्मत हार गई.

ऐसा क्या हुआ था जिसकी वज़ह से कुमारी अपनी हिम्मत हार गई ओर त्यारी करना बंद कर दी.

जब कुमारी को पता चला कि वह 3 महिने की प्रेग्नेंट है तो यह सुनकर उसका आईएएस (IAS) अधिकारी बनने का सपना मानो टूट-सा गया हो. लेकिन तब ही कुमारी के पति ने उसे फिर से मोटीवेट किया और वापिस त्यारी शुरू करने के लिए अपनी पत्नी को कहा.

लगभग 1 साल की कड़ी मेहनत के बाद कुमारी ने वह मुकाम हासिल किया और IAS के एग्जाम को क्रैक कर दिया. कुमारी ने बताया कि उसकी सफलता के पीछे सबसे बड़ा हाथ उसके पति का है. कुमारी ने बताया कि मुश्किल समय में भी उसके पति ने उसका साथ नहीं छोड़ा और हमेशा उसके साथ दिया कुछ भी करने में. कुमारी ने बताया कि जब वह स्टडी कर रही थी तो रात का खाना उसके पति ही बनते थे आफिस से आकर ओर अपनी छोटी-सी बच्ची को भी पूरी रात उसके पति ही संभाल थे।

सिर्फ़ इसलिए क्योंकि में पढ़ाई कर लू रात में देर तक केवल इसलिए वह इतना काम करते थे. कुमारी ने बताया कि उसकी जिंदिगी के रियल हीरो उसके पति ही है जिन्होंने उसकी इस ये सपना पूरे करने में मदद करि.

कुमारी आज अपनी इस मेहनत से ही इस IAS के मुकाम पर है. कुमारी ने लोगों के लिए 1 तरह से उदहारण त्यार किया है कि मेहनत करने वाले कि कभी हार नहीं होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *