बचपन से ही हम सब नाग-नागिन की कहानियां सुनते आ रहे हैं। आपने अक्सर लोगों को ये कहते भी सुना होगा कि अगर किसी व्यक्ति ने नाग को मार दिया तो नागिन उसका बदला जरूर लेती है, वह मारने वाले को मारकर अपना इंतकाम पूरा करती है। अगर नागिन मर जाए तो नाग बिछड़ने के गम में खुद ही तड़प-तड़प कर अपनी जान दे देता है।

इन किस्से-कहानियों के आधार पर ही ना जानें कितनी फिल्में और डेली सोप बन चुके। यूपी के आजमगढ़ में ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आपको यकीन नहीं होगा। लेकिन जो हुआ वह कोई कहानी नहीं बल्कि हकीकत है। दरअसल, यहां एक नागिन की मौत के बाद नाग थाने पहुंचकर थानेदार से इंसाफ मांगता नजर आया!

क्या है पूरा मामला?

मामला आजमगढ़ के मेंहनगर थाने का है, जहां नागिन की मौत के बाद एक नाग दरोगा के सामने कुंडली मारकर बैठ गया और उससे इंसाफ मांगने लगा।स्थानीय लोगों के अनुसार कुछ दिन पहले थाने में फरियादियों की भीड़ लगी थी, यहां सभी अपनी-अपनी शिकायत लेकर आए थे, उसी वक्त एक नाग-नागिन का जोड़ा थाने में आकर लोगों से कुछ दूरी पर बैठ गया।

जब फरियादी थाने से वापस लौटने लगे तभी एक शिकायतकर्ता की कार नागिन पर चढ़ गई, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई, इसके बाद नाग ने काफी देर तक कार का पीछा किया, लेकिन ड्राइवर तेज रफ्तार में गाड़ी भगाकर निकल गया।

इधर नागिन को मरा देखकर कुछ लोगों ने उसे थाने के पास ही जमीन में दफना दिया, लोगों को लगा था कि अब नाग यहां वापस नहीं आएगा, लेकिन कुछ दिन बाद ही कोबरा उसी जगह पर पहुंच गया, जहां नागिन को दफनाया गया था। कुछ देर इंतजार करने के बाद कोबरा उसी थाने के परिसर में अपनी शिकायत लेकर पहुंच गया, थाने में खतरनाक कोबरा को देखकर पुलिसवालों के हाथ-पांव फूल गए, कुछ पुलिसकर्मियों ने उसे मारने का विचार किया, लेकिन दारोगा ने ऐसा करने से उन्हें रोक दिया।

इसके बाद कोबरा थानेदार के ऑफिस के सामने रास्ते पर फन फैलाकर बैठ गया, कोबरा को ऐसे बैठे हुए देखकर लोगों ने अंदेशा लगाया कि मानो वह थानेदार के पास अपने जोड़े की मौत की शिकायत करने आया हो। हालांकि, बाद में थानेदार ने किसी तरह कोबरा को डस्टबिन में भरकर दूर जंगल में छुड़वा दिया, नाग-नागिन से जुड़ा ये मामला पूरे इलाके में चर्चा का केंद्र बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *