हाल ही में पद्म श्री सम्मान से नवाजी गईं एक्ट्रेस कंगना रनौत आजादी को लेकर दिए बयान के कारण मुसीबत में फंस गई हैं। कंगना ने भारत को मिली आजादी को ‘भीख’ बताया था, जिसके कारण एक्ट्रेस के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई है।

कंगना ने हाल ही हुए टाइम्स नाउ समिट में कहा था कि “भारत को 1947 में आजादी नहीं, बल्कि भीख मिली थी और जो आजादी मिली है वह 2014 में मिली।” कंगना रनौत का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा था। इस बयान में कंगना का इशारा बीजेपी की सरकार की तरफ था। लेकिन इसी बयान के कारण कंगना अब मुसीबत में हैं।

एक्ट्रेस के खिलाफ अब आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य प्रीति शर्मा मेनन ने मुंबई में शिकायत दर्ज करवाई है। पार्टी ने कंगना द्वारा दिए गए अपमानजनक बयान की निंदा की और उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की अपील की।

प्रीति मेनन ने ट्वीट किया कि उन्होंने मुंबई पुलिस को एक आवेदन जमा किया है, जिसमें कंगना रनौत पर उनके देशद्रोही और भड़काऊ बयानों के लिए धारा 504, 505 और 124 ए के तहत कार्रवाई का अनुरोध किया गया है।

 

इससे पहले वरुण गांधी ने कंगना की टिप्पणियों की निंदा की थी और ट्वीट किया था, “यह एक राष्ट्र-विरोधी कार्य है, लोग कभी हमारे स्वतंत्रता आंदोलन के असंख्य बलिदानों को नहीं भूल सकते जिसमें लाखों लोगों की जान गयी और कई परिवार तबाह हो गये। इन शहादतों को इस शर्मनाक तरीके से अपमानित करने को केवल लापरवाही वाला या संवेदनाहीन बयान नहीं कहा जा सकता। कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार। इस सोच को मैं पागलपन कहूँ या फिर देशद्रोह?’

 

कंगना का वरुण पर पलटवार- जा और रो अब
kangana ranaut
वरुण गांधी के इस ट्वीट पर कंगना रनौत ने पलटवार किया था। ट्विटर अकाउंट बैन होने के कारण कंगना ने इंस्टाग्राम पर वरुण को जवाब दिया था। उन्होंने उनके ट्वीट का स्क्रीनशॉट अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर करते हुए लिखा था, ‘मैंने साफ कहा है कि 1857 की क्रांति, पहला स्वतंत्रता संग्राम थी, जिसे दबा दिया गया और इसके परिणामस्वरूप अंग्रेजों के जुल्म व क्रूरता और भी बढ़ गई। फिर करीब एक शताब्दी बाद हमें गांधी जी के भीख के कटोरे में आजादी दी गई।’

तबलीगी जमात पर विवादित टिप्पणी मामले में केस
वहीं दूसरी ओर कंगना रनौत के खिलाफ एक अन्य केस में भी रिवाइज्ड ऐप्लिकेशन दायर की गई है। अप्रैल 2020 में कंगना रनौत ने अपने ट्विटर हैंडल पर तबलीगी जमात के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसने मुस्लिम समुदाय की भावनाओं को आहत कर दिया था। उस मामले में अली काशिफ खान ने एक्ट्रेस के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी, जिसे मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट ने खारिज कर दिया था।
Kangana Ranaut पर पहले भी दर्ज हो चुका है देशद्रोह का केस, जानें 'पंगा गर्ल' का विवादों से नाता | Kangana ranaut popular controversies treason case
अली काशिफ खान ने अब अपनी शिकायत पर मंजूरी जारी करने के लिए शहर के कलेक्टर से संपर्क किया है। उन्होंने कहा, ‘शिकायत को सीधे खारिज नहीं किया जाना चाहिए था, जब मजिस्ट्रेट ने पहले ही सीआरपीसी की धारा 202 के तहत पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने का निर्देश दिया था। कोर्ट को इसे उसी के अनुपालन के लिए रखना चाहिए था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *