देश की एक बहादुर बेटी जिसने अपने पिता को गांव लेन के लिए 1200 Km साइकिल चलाई थी। उसके साथ अभी बहुत बुरा वकत चल रहा हैं। उसके पिता की मौत उनके गांव सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहुल्ली गांव स्थित अपने घर पे हो गयी हैं। हम आपको बता दे की इस ज्योति ने बीते साल अपने बीमार पिता(48) को लेकर 1200 KM साइकिल चलाई थी। जिसमे उसको देश भर में सराहा गया था। बहुत सारे संगठनो ने सहयोग भी किया था।

अभी साइकिल गर्ल की दुनिया में अँधेरा छा गया हैं। उसके ऊपर से पिता का साया उठ गया हैं। मिली जानकारी के हिसाब से अचानक से हार्ट अटक आने से उसके पिता की मौत हुई हैं। उनके पिता का नाम मोहन पासवान था। और उनका अंतिम सांस्कार उनके ९ वर्षीया बेटे ने किया। पुरे परिवार के लिए ये संकट की घडी हैं।

ज्योति के परिवार में ये दूसरी मौत

उसके परिवार में पिता सहित उसके एक चचरे दादा की मृत्यु भी एक सप्ताह के अंदर हो गयी हैं। पूरा परिवार सदमे में है। इस बहादुर बेटी के पिता की खबर सुन पूरा देश सदमे में हैं।

पुरे देश में जब लॉक-डाउन था तब हीरो की तरह सुर्खियों में आई थी ज्योति :

बीते साल जब मजदुर पलायन कर रहे थे। हज़ारो मजदूरों ने रास्ते में अपने प्राण छोड़ दिए। इस पलायन में एक बेटी अपने बीमार पिता को गुरुग्राम से दरभंगा ले आई थी। और पुरे देश में इस बेटी की गूंज थी। आज इस बेटी के साथ ऐसा समय आया हैं उसपर जो नित रही हैं उस में हम उसका साथ दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *