बॉलीवुड सुपरस्टार दिलीप कुमार का आज सुबह (7 जुलाई, 2021) निधन हो गया. वे 98 साल के थे.फ़िल्मों से बरसों से दूर होने के बावजूद दिलीप साहब के दुनिया भर में आज भी लाखों करोड़ों प्रशंसक हैं. उन प्रशंसकों में सबसे ज़्यादा उनका कोई प्रशंसक है तो वो हैं उनकी पत्नी सायरा, जो उनकी बचपन से दीवानी रही हैं. दिलीप कुमार पिछले कुमार पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे हैं. दिलीप कुमार के डॉक्टर जलील पारकर ने इस बारे में जानकारी दी. उनकी मौत से देशभर में शोक की लहर है. हर कोई अपने अपने तरीके से उन्हें अंतिम विदाई दे रहा है.

दिलीप साहब आज हमारे बीच नहीं रहे. उनके जाने से आज भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष के इतिहास का एक स्र्वणिम अध्याय समाप्त हो गया है. पिछले कई दिनों से वह मुंबई में खार स्थित हिन्दुजा अस्पताल में भर्ती थे. दो दिन पहले उनकी पत्नी सायरा बानो ने खबर दी थी कि वह जल्द अच्छे होकर घर लौटेंगे. दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर, 1922 को पेशावर, पाकिस्तान में हुआ था. 98 वर्ष की उम्र में आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली. उनका असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान था.

दिलीप कुमार यानी एक ऐसा सितारा जो किसी किंवदंती के समान था, आज जाते-जाते अपने साथ न जाने कितनी ही आंखों को नम कर गया है, पीछे न भूलने वाली कितनी ही यादें छोड़ गया है. शायद उस दिन बॉम्बे टॉकीज के दफ्तर में फिल्मकार देविका रानी ने अपने बैनर की किसी फिल्म के लिए केवल एक सितारे की खोज नहीं की थी, बल्कि एक ऐसे फनकार की खोज की थी जिसने अपने अभिनय से कई पीढ़ीयों को प्रेरित किया. उन्हें मो. युसुफ खान से दिलीप कुमार बनाने वाली देविका रानी ही थीं. बॉम्बे टॉकीज की फिल्म ‘ज्वार भाटा’ (1944) से दिलीप कुमार ने रूपहले परदे पर कदम रखा था.

दिलीप कुमार ने साल 1944 में फिल्म ‘ज्वार भाटा’ से बॉलिवुड डेब्यू किया था. इसके बाद दिलीप कुमार बॉलिवुड के पहले सुपरस्टार बने और उन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्में दीं. वहीं, आज उनके निधन पर बॉलीवुड के कई सितारों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है. सोशल मीडिया पर भी उनके फैंस उन्हें नम आँखों से विदाई दे रहे है .उन्होंने मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में आखिरी सांस ली.  दिलीप कुमार के पारिवारिक मित्र फैजल फारुखी ने आज एक्टर के ट्विटर से उनके निधन की जानकारी दी.दिलीप कुमार के निधन की खबर के बाद से ही इंडस्ट्री में शोक की लहर है.

फ़िल्मों से बरसों से दूर होने के बावजूद दिलीप साहब के दुनिया भर में आज भी लाखों करोड़ों प्रशंसक हैं. उन प्रशंसकों में सबसे ज़्यादा उनका कोई प्रशंसक है तो वो हैं उनकी पत्नी सायरा, जो उनकी बचपन से दीवानी रही हैं.दिलीप कुमार से शादी के बाद उन्होंने अपना पूरा जीवन उन्हीं को समर्पित कर दिया. पिछले कई वर्षों से तो वह दिलीप साहब के हर दुःख सुख में साए की तरह उनके साथ रहती हैं. दिलीप साहब के 96 वें जन्मदिन के अवसर पर हमने उनसे एक विशेष बातचीत की.

आज शाम पांच बजे उन्हें मुंबई के सांताक्रूज कब्रिस्तान में पूरे राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्द ए खाक किया जाएगा.
फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार के पार्थिव को जुहू के कब्रिस्तान में 3 से 4 बजे के बीच लाया जाएगा और अंतिम विधि 5 बजे तक पूरी होगी कब्रिस्तान के कमिटी मेंबर के मुताबिक 20 से ज्यादा लोगों को अंदर जाने की इजाजत नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *