भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है, कोविड-19 से होने वाली मृत्युदर में पहले की अपेक्षा कमी आई है और अब ज्यादातर लोग इस वायरस की चपेट में आने के बाद ठीक हो जाते हैं। कोई व्यक्ति एक बार कोरोना से संक्रमित हो गया हो। अगर उसके बाद वो रिकवर हो जाता है, अपने सेहत का ध्यान पहले से ज्यादा रखने की जरूरत है।

यदि कोई व्यक्ति कोरोना वायरस या कोविड-19 वायरस से संक्रमित हो जाता है तो व्यक्ति के फेफड़ों सहित पूरे शरीर पर इसका लेकिन बुखार, खांसी, थकान जैसी तकलीफों से कई दिनों तक जूझते रहने के कारण व्यक्ति का शरीर कमजोर हो जाता है। ऐसे में व्यक्ति को अपने शरीर और सेहत की तेजी से रिकवरी के लिए खानपान से जुड़ी कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। आइए आपको बताते हैं कोविड से ठीक होने के बाद आपकी डाइट कैसे होनी चाहिए।

प्रोटीन ऊर्जा का सबसे अच्छा स्रोत होता है। इसलिए इस वायरस के दौरान आपको संक्रमित होने के बाद यदि कमजोरी महसूस होती हैं तो प्रोटीन के द्वारा वह उसे एनर्जी में तब्दील करता है। इसलिए रोजाना अपनी डाइट में प्रोटीन युक्त भोजन जैसे दाल, फलिया, पीनट, दूध, दही, चीज, अंडे, मछली आदि शामिल करें और आपको डेली कम से कम 50-80 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना जरूरी है।

सुनिश्चित करें कि आपकी डाइट में विभिन्न तरह की मौसमी सब्जी शामिल हो क्योंकि मौसमी मौसमी सब्जी में विटामिन्स और मिनरल्स ज्यादा होता है जो आपकी ऊर्जा को बढ़ाते हैं.


संक्रमित मरीजों को ठीक होने के बाद ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ को अपने रुटीन का हिस्सा बनाएं। एक दिन में कम से कम 6 से 8 गिलास पानी अवश्य पिएं।आप नारियल पानी, जूस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

अपने ब्रेकफास्ट में अलग-अलग ताजा फलों जैसे सेब, अनार, पपीता को शामिल करें. अगर आपको फल खाना पसंद नहीं है, तब फल का ताजा जूस पीएं. इससे आपको अपनी कमजोरी पर काबू पाने में मदद मिलेगी.

गर्म दूध पीएं- बिस्तर पर जाने से पहले दूध में चुटकी भर हल्दी मिलाकर गर्म दूध के साथ पीना सुनिश्चित करें. ये हल्दी दूध आपकी हड्डियों को मजबूत करेगा

बहुत से संक्रमित मरीजों को ठीक होने के बाद यह सलाह दी जाती है कि उन्हें एक्सरसाइज खास कर ब्रीदिंग एक्सरसाइज करनी चाहिए। ताकि आप का रेस्पिरेटरी सिस्टम भी जल्द ही ठीक हो सके।

अधिक वजन बहुत सी बीमारियों का घर होता है। इसलिए हेल्दी डाइट व एक्सरसाइज से स्वयं के वजन को संतुलित रखा जा सकता है। हेल्दी डाइट न केवल वजन को नियंत्रित करेगी बल्कि हृदय रोग व टाइप 2 डायबिटीज जैसी बीमारियों से भी बचायेगी।

संक्रमित मरीजों को ठीक होने के बाद घर का खाना हीं खाना चाहिए। बाहर का खाना खाने से आप फिर से वायरस के शिकार हो सकते हैं। स्वयं की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। केवल ताजा व घर पर बनी चीजें ही खाएं।

इस तरह की डाइट न केवल आपको अपनी ताकत वापस पाने में मदद करेगी बल्कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ावा देगी। साथ ही आप अन्य संक्रमणों से भी दूर रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *