यूपी के मेरठ से एक बेहद ही डरावनी खबर सामने आई, जो बाद में एक शर्मनाक कहानी के रूप में तब्दील हो गई. वैसे बचपन में भूतों की कहानी तो हम सभी ने सुनी होगी, लेकिन इस पर विश्वास करना काफी मुश्किल होता है. यहां तक की विज्ञान में भूतों के लिए कोई भी जगह नहीं है और न ही विज्ञान भूतों पर किसी भी तरह का कोई विश्वास करता है. लेकिन ये खबर पढ़ने के बाद आपका दिमाग कम से कम थोड़ी देर के लिए तो काम करना बंद ही कर देगा..

मेरठ की एक हॉस्टल की है घटना

मेरठ के कस्तूरबा गांधी गर्ल्स स्कूल में छोटी-छोटी बच्चियों के साथ ऐसी घटनाएं घट रही थी, जिस पर विश्वास करना काफी मुश्किल है. खरखौदा में स्थित इस स्कूल के हॉस्टल में रहने वाली 5वीं, 6ठी और 7वीं कक्षा की छात्राएं इस पूरे भूतिया चक्रव्यूह में फंसी.बच्चियों का कहना है कि रात को उनके कमरे में अजीब आवाज आती है . और कभी कभी उनके मुंह को ढक कर उनके कपड़े भी उतार लिए जाते हैं. इन घटनाओं से बच्चे काफी डरी हुई थी.

हकीकत जानकर पैरों तले जमीन खिसक गई

जब इस घटना का खुलासा हुआ तो बच्चों के माता-पिता चकित रह गए.सच्चाई सामने आने के बाद छात्राएं ही नहीं बल्कि पूरा देश गुस्से से लाल हो गया. क्योंकि हॉस्टल में रात को बच्चियों को डराने वाले भूत नहीं बल्कि खुद हॉस्टल की वॉर्डन थी. हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं ने बताया कि परिसर में वॉर्डन मुंह ढक लेती थी, ताकि वह उनमें भूतिया खौफ पैदा कर सके.

इतना ही नहीं दिमाग से हिली हुई हॉस्टल की वॉर्डन बच्चियों को डराने के लिए खुद से ही बातें करती थी. जिससे बच्चों को लगता था कि वह किसी भूत या आत्मा से बात कर रही है. आरोपी वॉर्डन का नाम पूनम भारती बताया जा रहा है .पूनम बच्चियों को लेकर इतनी दरिंदगी पर उतर आई थी. कि वह उनके कमरे में चुपके घुस जाती थी और उनके कपड़े उतार देती थी। लेकिन सबसे डरावनी बात तो ये है कि पूनम के साथ-साथ स्कूल का एक चपरासी भी बच्चियों का यौन शोषण करता था.

लेकिन जब पूनम की सारी करतूत बच्चियों को समझ में आ गई तो उन्होंने वॉर्डन के खिलाफ शिकायत कर दी. जिसके बाद मेरठ जिला प्रशासन ने वॉर्डन पूनम भारती के साथ आरोपी चपरासी ज्ञान प्रकाश को भी निलंबित कर दिया है .मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रशासन ने दोनों आरोपियों के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *