भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने अपने सफल क्रिकेट कॅरियर के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. भले ही उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है, लेकिन उनके चाहने वालों में आज भी कोई कमी नहीं आई है. लोग आज भी धोनी को क्रिकेट ग्राउंड पर उतना ही देते हैं, जितना पहले देते थे.क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने के बाद धोनी अब आर्गेनिक खेती में हाथ आजमा रहे हैं. दरअसल, धोनी के गृह नगर झारखंड की राजधानी रांची के बाजारों में धोनी के खेतों की सब्जियां खूब बिक रही हैं. इन सब्जियों की चर्चा अब रांची से निकलकर अन्य राज्यों में भी हो रही है..

खेती के खिलाड़ी बने महेन्द्र सिंह धोनी

हमारे इंडियन क्रिकेट टीम पूर्व कप्तान महेद्र सिंह धोनी क्रिकेट  जगत से सन्यास ले चुके है. और वही इन दिनों धोनी अपने फार्म हाउस और डेयरी फार्म में अपना ज्यादासमय बिता रहे है और वे इन दिनों अपने फार्म हाउस में आर्गेनिक खेती कर रहे है और प्रकृति के साथ अपना समय बिता रहे है.बता दे इन दिनों धोनी रांची के धुर्वा स्थित सेम्बो में 55 एकड़ में फैले अपने खेतों में फार्मिंग कर रहे है और वे अपने इस फार्म हाउस में ढेरों मौसमी सब्जियां लगवाए है .जिसका काफी अधिक मात्रा में उत्पादन होता है और धोनी ने अपने खेत  में टमाटर, फूल गोभी, पत्ता गोभी, ब्रोकली जैसी सब्जियों की खेती करवाए है और उनका ये फार्म हाउस इस समय इन मौसमी सब्जियों से भरा हुआ है और धोनी भी अपना ज्यादातर समय  अपने फार्म हाउस में ही बिताते है…

धोनी के खेत के टमाटर चर्चा में

लोगों को क्रिकेट ग्राउंड पर पहले धोनी की बल्लेबाजी के जलवे देखने को मिलते थे तो अब सब्जी मार्केट में धोनी के खेत में पैदा हुए टमाटर का बोलबाला है. धोनी ने अपने 43 एकड़ के फार्म हाउस में 3 एकड़ से ज्यादा में सिर्फ टमाटर की खेती की है .खेत में पौधों पर टमाटर पकने के बाद धोनी के फार्म हाउस से इसे बाजारों में भेजा जा रहा है. TO 1156 किस्म का यह टमाटर बाजार में ₹40 प्रति किलो में बेचा जा रहा है.

बता दे धोनी के फार्म हाउस में सबसे ज्यादा टमाटर का उत्पादन होता है और धोनी के फार्म हाउस  में 80 किलो टमाटर का उत्पादन रोजाना होता है  और इन टमाटरों की मार्किट में काफी ज्यादा डिमांड है क्योंकि धोनी ने फार्म हाउस के ये टमाटर बहुत ही फ्रेश होते है .क्योंकि इन टमाटरों का उत्पादन ऑर्गेनिक रूप से किया जाता है और इस वजह इन टमाटरों के लिए लोग पहले से ही आर्डर लगाये रहते है और मंडी में जाते ही ये तुरंत बिक जाता है .

धोनी चाहते हैं सब्जी बने आमदनी का जरिया

रांची के सैंबो में धोनी का फार्म हाउस है.इसी में टमाटर के अलावा गोभी, मटर और कई अन्य तरह की सब्जियां उगाई गई हैं। धोनी चाहते हैं उनके फार्म हाउस पर उगाई गई सब्जियां उनके आमदनी का जरिया बने. जानकार बताते हैं कि धोनी के फार्म हाउस पर तैयार हुई टमाटर की किस्म बाकियों से अलग है और उन्हें मार्केट में भी अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। धोनी को मटर बहुत पसंद है. धोनी के एग्रीकल्चर कंसल्टेंट रोशन कुमार बताते हैं कि धोनी ने कहा कि जब भी वह फार्म हाउस आएंगे तो यहां की मटर खेत में बैठकर खाएंगे.

बता दे धोनी के फार्म हाउस के गौशाला में करीब 70 गायों को रखा गया है जिसमे भारतीय नस्ल की साहीवाल और फ्रांस के नस्ल की फ्रीजियन गाय पाली गयी है और इन सभी गायों को पंजाब से लाया गया है |बता दे धोनी के इस फार्म हाउस की पूरी देखभाल शिवनंदन और उनकी पत्नी सुमन यादव करती हैं आयर ये दोनों पति पत्नी मिलकर ये पूरा कारोबार सँभालते है .

वही शिवनंदन ने एक इंटरव्यू में बताया था की उन्होंने अब तक लाखों रुपये धोनी के अकाउंट में डाले है और वे बेहद ही खुश है की धोनी ने खुबसूरत फार्म हाउस का जिम्मा उन्हें सौपा है और उन्होंने बताया की धोनी जब भी रांची आते है तब वे अपने इस फार्म हाउस जरुर आते है और दो तीन दिन यहाँ जरुर गुजारते है और धोनी अपने फार्म हाउस की पालतू गायों के पास जाकर भी समय बिताते है और वे अपने इस फार्म हाउस में  सब्जियों   का ऑर्गेनिक रूप से उत्पादन  देखकर बेहद खुश होते है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *