तेलंगाना की पेराला मानसा रेड्डी (23) ने हांगकांग के ओपोड घरों से प्रेरित होकर, एक चीप ‘ओपोड टियूब हाउस’ निर्मित किया है।दरअसल मानसा ने लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, पंजाब से सिविल इंजीनियरिंग की है। उन्होंनेन्हों ने ” इन पाइपों को तेलंगाना के एक मैन्युफैक्चरर से लिया, जो पाइप को हमारी अनुसार साइज देने के लिए रेडी थे।लेकिन, ये पाइप गोल आकार है, इसके बने घर में तीन लोगों का परिवार रहे लेगा, इनसे 1 BHK, 2 BHK और 3 BHK घर भी बन सकते हैं।” ऐसे घर बनने में सिर्फ़ 15 से 20 दिन ही लगते है। मानसा ने ‘सामनावी कंस्ट्रक्शंस’ नामक एक स्टार्टअप भी शुरू किया।

तेलंगाना की पेराला मानसा रेड्डी (23) ने हांगकांग के ओपोड घरों से प्रेरित होकर, एक चीप ‘ओपोड टियूब हाउस’ निर्मित किया है।दरअसल मानसा ने लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, पंजाब से सिविल इंजीनियरिंग की है। उन्होंने “इन पाइपों को तेलंगाना के एक मैन्युफैक्चरर से लिया, जो पाइप को हमारी अनुसार साइज देने के लिए रेडी थे।लेकिन, ये पाइप गोल आकार है, इसके बने घर में तीन लोगों का परिवार रहे लेगा, इनसे 1 BHK, 2 BHK और 3 BHK घर भी बन सकते हैं।” ऐसे घर बनने में सिर्फ़ 15 से 20 दिन ही लगते है। मानसा ने ‘सामनावी कंस्ट्रक्शंस’ नामक एक स्टार्टअप भी शुरू किया।

दरअसल मानसा बताती हैं, ” मैंने बेघर लोग, सड़क के किनारे सीवेज पाइप में रहते लोग देखे, मुझे तभी यह ख़्याल आ गया कि मैं इन पाइपों को थोड़ा और बड़ा और एक परिवार की ज़रूरतों के अनुसार बना सकती हूँ, जिसमें सुविधा होगी, तो एक स्थायी घर बन जाएगा।फिर, उन्हें जापान और हांगकांग के ऐसे घरों के बारे में पता चला, उन्होंने रिसर्च की। इससे उन्हें कम जगह में, कम लागत के घर के आइडिया में सहायता मिल गई.

मानसा ने लंबी सीवेज पाइप ली।घर को गर्मी से बचाने तथा ठंडा रखने के लिए, घर के बहार की सतह पर सफेद पेंट किया।उन्होंने पाइप, घर के दरवाजे, खिड़की के फ्रेम, बाथरूम और बिजली की फिटिंग तथा बाक़ी ज़रूरत की चीजें ली। मानसा ने 2 मार्च, 2021 से घर बनाना शुरू किया।उन्होंने अपने रिश्तेदार से मिली ज़मीन का यूज किया।उन्होंने 28 मार्च तक एक 1 BHK घर बना दिया था। ” यह घर 16 फुट लंबा और 7 फुट ऊंचा है। इसमें एक छोटा लिविंग रूम, एक बाथरूम, किचन और सिंक के साथ एक बेडरूम बना है, जिसमें एक क्वीन साइज बेड आराम से रख सकते है।

वहीं घर के बारे में जानने के लिए एक प्रवासी मज़दूर को वहाँ सात दिनों तक रहने के लिए कहा गया वह मानसा की निर्माण टीम में थे।मनसा बताती हैं कि “हमने उन्हें बिजली, पानी जैसी बुनियादी सुविधाओं के साथ, खाना भी दिया। वह उस घर में सात दिनों तक रहे और हमें कुछ प्रतिक्रिया भी दी, जैसे-बाथरूम कहाँ होना चाहिए, घर में वेंटिलेशन के लिए ज़्यादा खिड़कियाँ और भी दूसरी बातें कही, जिन्हें मैं अपने अगले प्रोजेक्ट में ध्यान रखूंगी” वहीं अपने ओपोड घर के लॉन्च के साथ उन्होंने कंपनी ‘सामनावी कंस्ट्रक्शंस’ को भी शुरू किया।हालाँकि मानसा, इन दिनों 2, 3 और 4 BHK ओपोड घर के डिजाइन में लगी है।उन्हें कई अन्य राज्यों से ओपोड घर बनाने के लिए 200 से ज़्यादा ऑर्डर आ गए है। परंतु, लॉकडाउन के चलते उन्होंने अभी तक इन प्रोजेक्ट्स को नहीं लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *