राजा-महाराजाओं के पराक्रम के कई किस्से इतिहास के पन्नों में दर्ज हैं, लेकिन कुछ के रंगीन मिजाज़ी के किस्से भी बहुत है। दासियों के साथ रासलीला हो या किसी दुसरे राजा की रानी पर नज़र, इनकी अय्याशी के चर्चे भी रहे हैं। एक ऐसे ही महाराजा भूपेंद्र सिंह थे I इनके कारनामें जानकर आपका दिमाग चकरा जाएगा।जनाब के कारनामों के बारे में उनके ही दीवान जरमनी दास ने अपनी किताब ‘महाराजा’ में पूरा विवरण दिया है।

देश का सबसे अय्याशी राजा

भारत के इतिहास में कई राजा-महाराजा के बारे में पढ़ा था। इनका अपना राज्य होता था जहां ये शासन करते थे I इनमें से कुछ राजा अपने स्वभाव के कारण लोगों के दिलों में जगह बनाते थे वहीं कुछ ऐसे भी राजा रहे हैं,जो अपने नेचर की वजह से बदनाम रहे हैंI राजा भूपेंद्र सिंह ने भी अपनी जिंदगी में उन्होंने कुछ ऐसे काम किये जिसकी वजह से उनकी काफी बदनामी हुई I

पटियाला रियासत के महाराजा भूपिंदर सिंह का नाम इन्हीं बदनाम राजाओं में गिना जाता है. भूपिंदर सिंह का जन्म 12 अक्टूबर 1891 को हुआ था I किसी कारणवश इन्हें मात्र 9 साल की उम्र में ही राजा बनाया गया I इसके बाद जब वो 18 के हुए तब उन्होंने राज काज संभाला I इसके अगले 38 साल तक उन्होंने शासन किया I

रंगरलियों के लिए बनाया महल

भूपिंदर सिंह बेहद अय्याश किस्म का राजा था I अपनी रंगरलियों के लिए उसने अलग से एक महल ही बनाया था I इसका नाम रखा था लीला-भवन I कहा जाता है कि इस महल में लोगों की एंट्री बिना कपड़ों के होती थी I आज भी ये महल पटियाला के भुपेन्द्रनगर रोड के किनारे मिल जाएगा I इस महल का एक स्पेशल कमरा था जिसे प्रेम मंदिर कहते थे I इस कमरे में सिर्फ राजा की एंट्री थी I कहा जाता है कि इस रूम में भोग-विलास के कई साधन मौजूद थे I

महाराजा ने महल के बाहर एक स्विमिंग पूल भी बनवाया था। ये पूल इतना बड़ा था करीब 150 महिला और पुरुष एकसाथ नहा सकते थे। इसी स्विमिंग पूल में शानदार पार्टियां होती थीं जहां खुलेआम लोग अय्याशी करते थे। महाराजा ऐसी पार्टियों में अपनी प्रेमिकाओं के साथ भी खुलेआम इश्क फ़रमाते थे।


365 रानी का इकलौता राजा

भूपिंदर सिंह की कुल 365 रानियां थी इन रानियों में 10 को बीवी का दर्जा मिला था I महल में रानियों के लिए एक डॉक्टर 24 घंटे मौजूद रहती थी I इन रानियों से भूपिंदर सिंह के कुल 83 बच्चे हुए, जिनमें से 20 की मौत हो गई I महाराजा भूपिंदर किस रानी के साथ रात बिताएंगे, इसका डिसीजन काफी अनोखे तरीके से किया जाता था I महल में जकुल 365 लालटेन जलाई जाती थी I हर लालटेन पर एक रानी का नाम लिखा होता था I जिस नाम का लालटेन पहले बुझता था, उसके साथ ही भूपिंदर सिंह की रात कटती थी I

जीते थे लक्जरी लाइफ


भूपिंदर सिंह अपनी लग्जरी जिंदगी के लिए मशहूर थे I कहा जाता है कि उनके पास दुनिया का सातवां बेशकीमती हार था जो चोरी हो गया था I इसके अलावा पटियाला पैग बनाने का क्रेडिट भी इन्हें ही जाता है I इसके अलावा भूपिंदर सिंह के पास 44 रॉल्स रॉयस कार थी I शख्स थे जिनका खुद का विमान था I

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *