मध्य प्रदेश के उज्जैन में 3 महीने की बच्ची के मर्डर के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस ने बताया है कि बच्ची की मां एक बेटा चाहती थी, बेटी पैदा होने के बाद से ही वह उससे नफरत करने लगी थी, जिसकी वजह से उसने मासूम की जान ले ली। आरोपी महिला फिलहाल पुलिस रिमांड पर है, कोर्ट ने उसको 24 घंटे के लिए रिमांड पुलिस को सौपा है। पुलिस अधिकारी उससे लगातार पूछताछ कर रहे हैं, रविवार को उसे फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा।

 

मां ने गूगल पर सर्च किया 'बच्ची को कैसे मारे? फिर 3 महीने की बेटी को उतारा मौत के घाट - IndiaFeedsपुलिस का कहना है कि शातिर अपराधी लगातार अपने बयान बदल रही है। वह सच्चाई का खुलासा करने की बजाय पुलिस को गुमराह करने में लगी हुई है।उज्जैन पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश करते हुए रिमांड मांगी थी। स्वाति के परिवार वालों का कहना है कि 3 महीने की मासूम पूरे परिवार की लाड़ली थी लेकिन उसकी मां को वह बिल्कुल भी पसंद नहीं थी। वह बच्ची का कोई भी काम नहीं करती थी, परिवार के दूसरे लोग ही उसका ध्यान रखते थे। बताया जा रहा है कि स्वाति शुरुआत से ही बेटा चाहती थी, लेकिन उसे बेटी पैदा हो गई जिसकी वजह से वह काफी परेशान थी। नया मोबाइल मिलते ही उसने बच्ची को मारने के तरीके देखे, उसके बाद पानी की हौद में डुबाकर बच्ची को मार दिया।

मां ने मासूम बेटी को उतारा मौत के घाट

बेटे की चाह में तीन माह की बेटी को मारने वाली मां का रिमांड पूरा, कोर्ट ने जेल भेजा - Hindi News, हिंदी न्यूज़ , Hindi Samachar, हिंदी समाचार, Latest News in

उज्जैन के एएसपी आकाश भूरिया ने बताया कि उनके पास महिला के खिलाफ पर्याप्त सबूत मौजूद हैं। सबूतों से साफ पता चलता है कि 3 महीने की मासूम की हत्या मां स्वाति ने ही की है।उन्होंने बताया कि सबूतों के आधार पर ही स्वाति को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया है, हालांकि वह यब सबूत सार्वजनिक नहीं कर सकते।

ujjain crime news

बताया जा रहा है कि 7 अक्टूबर को स्वाति के पति ने उसे नया मोबाइल लाकर दिया था। जिसके बाद उसने बच्ची को मारने के तरीके सर्च करने शुरू कर दिए 12 अक्टूबर को मौका मिलते ही उसने बच्ची का पानी के हौद में डुबा दिया जिससे उसकी मौत हो गई। शातिर महिला यह सर्च कर रही थी कि बच्ची को कैसे मारा जाए जिससे उसके शरीर पर एक भी निशान न दिखे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *