यशवंत का जीवन उन सभी कैंडिडेट्स के लिए प्रेरणा है जो जीवन में कुछ करना चाहते हैं, लेकिन धैर्य नहीं है। यशवंत को इसके लिए 10 साल तक इंतजार करना पड़ा था।

आईएएस के लिए संघर्ष

यशवंत मीणा मूल रूप से राजस्थान के जयपुर के रहने वाले हैं I वे पढ़ाई में होशियार थे इंटरमीडिएट के बाद उन्होंने इंजीनियरिंग में दाखिला ले लिया I इंजीनियरिंग दौरान ही उन्होंने यूपीएससी में जाने का फैसला किया I डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी I शुरू में उनको अंदाजा नहीं था कि उनका यूपीएससी का सफर इतना लंबा हो जाएगा I हालांकि उनकी कुछ कमियों की वजह से उन्हें यहां लंबा संघर्ष करना पड़ा I

ऐसे में अपनी डिग्री लेने के बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी I यशवंत को खुद पर भरोसा था कि वे इस परीक्षा को पास कर अपना सपना जरूर पूरा कर लेंगे I इसलिए मोटिवेट होकर उन्होंने तैयारी शुरू कर दी I

लंबे संघर्ष के बाद सफलता मिली

UPSC क्लियर करने के लिए कितना धैर्य चाहिए होता है इसकी एक मिसाल है यशवंत मीणा। यूपीएससी एग्जाम जल्दबाजी में क्लियर नहीं होता और इसके लिए निरंतर प्रयास भी बहुत जरूरी होता है। दस साल लंबा संघर्ष आखिरकार पांचवे प्रयास में जाकर रुका और आखिरकार वो समय आ गया जिसका यशवंत लंबे समय से इंतजार कर रहे थे। यशवंत मीणा ने साल 2019 में AIR 797 रैंक हासिल की थी।लेकिन उनका संघर्ष बहुत लंबा चला था।

10 साल लंबे संघर्ष में यशवंत मीणा ने एक बार भी उम्मीद नहीं छोड़ी और चार प्रयास में वह रह भी गए थे। आखिरकार पांचवे प्रयास में उन्हें कामयाबी हासिल हुई। उनकी संघर्ष गाथा बताती है कि बिना संघर्ष और धैर्य के यूपीएससी क्लियर नहीं की जा सकती। शुरुआत में उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि उन्हें इतना लंबा सफर तय करना पड़ेगा।

यशवंत मीणा ने बताया सफलता का मूल मंत्र

एक इंटरव्यू में यशवंत ने बताया था, ‘यूपीएससी के लिए आंसर राइटिंग काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ऐसे में जितना संभव हो सके आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस करनी चाहिए। वे कहते हैं कि आपका आंसर जितना बेहतर तरीके से लिखा जाएगा, उतने अच्छे नंबर आपको मिलेंगे।’

अन्य कैंडिडेट्स को यशवंत की सलाह

यशवंत का मानना है कि यूपीएससी का सफर अनिश्चितताओं से भरा होता है, ऐसे में असफलताओं से घबराना नहीं चाहिए I अगर आप सही दिशा में कड़ी मेहनत करेंगे तो आप यहां जरूर सफलता प्राप्त कर सकते हैं I उनके मुताबिक आपको अपनी तैयारी का एनालिसिस करके कमजोरियों की पहचान करनी चाहिए I साथ ही वीक पॉइंट पर काम करके तैयारी को मजबूत बनाना चाहिए I उनके मुताबिक कड़ी मेहनत ही यहां सफलता का मूल मंत्र है I

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *