कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसान आंदोलन में आज कल पूनम प‍ंडित का नाम चर्चा का विषय बना हुआ है। बुलंदशहर से तालुक रखने वाली पूनम पंडित बीते 10 महीनों से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन में काफी ज्यादा सक्रिय हैं।

वह सबसे ज्‍यादा चर्चा में तब आई जब यूपी के मुज्‍जफरनगर में आयोजित किसान महापंचायत में उनको एक युवक द्वारा मंच पर चढ़ने से राेक दिया गया था। इस दौरान ही वह इंटरनेट मीडिया चैनल पर अपना इंटरव्‍यू देती हुई नजर आई थीं और इस सम्बन्ध में लोगों ने उन पर गंभीर आरोप लगाए।

पर क्‍या आपको पता है कि पूनम पंडित कभी हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की बाउंसर का काम करती थी। इस बारे में पूनम पंडित ने खुद ही लोगो को बताया जब वह हरियाणा के करनाल शहर में पहुंची थी।

पूनम पंडित तब भले ही अभी एक छोटा सा‍ नाम था, मगर आज उनको कर व्यक्ति जानता है। पूनम पंडित ने यह भी कहा कि मैंने सभी कानूनों को बहुत ही गहराई से समझा है और तभी मैं इस आंदोलन से जुड़ पाई हूं।

पूनम पंडित ने यह भी कहा कि मुझे इस बात पर बिल्कुल भी ऐतराज़ नहीं है कि मैं कभी सपना चौधरी की बाउंसर का काम करती थी। बाउंसर खेल से जुड़े हुए होते हैं और मैं भी एक इंटरनेशनल शूटर रह चुकी हूं।

वह एक परितियोगिता में नेपाल में गोल्‍ड मेडल भी ला चुकी हूं। तब घर चलाने के लिए मुझे नौकरी करनी पड़ती थी। मगर बाद में किसान आंदोलन से जुड़ना मेरी तकदीर बन गई।

सपना चौधरी को लेकर भी उन्‍होंने यह बयान दिया कि मुझे इस बात का काफी ज्यादा दुख है कि सपना चौधरी एक हरियाणवी कलाकार होने के बाद भी किसानों के समर्थन में नहीं आ सकी।

पूनम पंडित ने यह भी बताया कि कुछ लोग जहर फैलाकर इस आंदोलन को तोड़ने की काफी ज्यादा कोशिश कर रहे हैं। मुझे और मेरे साथियों को बदनाम किया जा रहा है और यही वजह है कि मुज्‍जफरनगर में भी मेरे साथ अभद्रता हुई थी ।

पूनम पंडित हरियाणवी और यूपी के लहजे में बहुत ही प्रभावी भाषण देती हैं जिसे लोगों द्वारा काफी ज्यादा पंसड किया जाता है। कुछ समय पहले उनको टिकरी बॉर्डर पर आने से रोक दिया गया था। पूनम पंडित इस बात को लेकर बहुत ही भावुक हो गई थी और बात करते समय थे उनके आंखों से आंसू बहने लगते है। करनाल में जब किसानों पर लाठीचार्ज हुआ था.

और एसडीएम आयुष सिन्‍हां पर कार्रवाई की मांग को लेकर शुरू किए गए धरने में पूनम पंडित भले ही आखिर में पहुंची थी पर उन्‍होंने उस आंदोलन में जान ही फूंक दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *