आईएएस बनने के लिए, यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन (यूपीएएसी), सिविल सेवा परीक्षा पास करनी पड़ती है। हर वर्ष हजारों, लाखों कैंडीडेट्स परीक्षा में शामिल होते हैं। लेकिन कठोर मेहनत के बल पर कुछ चुनिंदा अभ्यार्थियों को ही सफलता मिलती है।

यूपीएससी परीक्षा में सफल होने के बाद कैंडिडेट्स को मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री ट्रेंनिंग अकैडमी (LBSNAA) में कड़ी ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है।

आज हम आपको आईएएस अधिकारियों के वेतन के बारे बताने जा रहे हैं।

7th Pay कमीशन के हिसाब से, आईएएस अधिकारियों को बेसिक वेतन TA, DA, HRA के अनुसार प्राप्त होता है। हर प्रमोशन के बाद उनकी सैलरी बढ़ती जाती है।

बेसिक वेतन

SDM /अवर सचिव /सहायक सचिव-56,100/-

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट(ADM)/उप सचिव /- 78,800/-

जिला मजिस्ट्रेट /विशेष सचिव /निर्देशक -1,18,500/-

डिविजनल कमिश्नर /सचिव-सह-आयुक्त /संयुक्त सचिव -1,44,200/-

प्रमुख सचिव /अपर सचिव -1,82,200/-

अपर मुख्य सचिव -2,05,400/-

प्रमुख शासन सचिव /सचिव -2,25,000

भारत के कैबिनेट सचिव -2,50,000/-

जब किसी आईएएस अधिकारियों की जॉइनिंग होती है तब महंगाई भत्ता 0% निर्धारित होता है। मगर यह समय के साथ बढ़ता जाता है। अधिकारियों का वेतन, कार्यकाल और प्रमोशन के साथ बढ़ता है। मूल वेतन हर वर्ष प्रारंभिक स्तर पर 3% बढ़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *