दोस्तों यह अक्सर देखा जाता है कि हमारे घर गृहस्ती में बहुत सारी बाधाएं आती है। इन बादलों के पीछे एक चीज हो सकती है। ज्योतिष का यह मानना है कि यदि आपके शनि ग्रह का प्रभाव है तो आपके जीवन में यह बाधाएं आ सकती हैं।
लाल किताब एक ऐसी किताब है जिसके अनुसार शनि ग्रह को प्रसन्न करने के लिए बहुत सारे उपाय बताए गए हैं। यदि हम इन सभी उपायों को अच्छे ढंग से पूरा करें तो हम लोग शनि ग्रह के प्रकोप से बच सकते हैं।

शनि को खुश करने के 5 उपाय :

प्रथम जो उपाय हैं उसमें ऐसा बताया गया है कि अपने अपने घर में हमेशा शहद रखें। और दिन में कभी-कभी थोड़ा शहद खाते रहे। साथ में शहद को अपनी फैमिली लोगों को भी खिलाना है। शनिवार के दिन जो है सेहत को शनि भगवान के मंदिर में दान करना है।
दूसरे उपाय में यह बताया गया है। कि जो भी अंधे दिव्यांग गरीब लोग हैंउनकी सहायता करनी है। जो भी लोग सफाई कर्मी या कोई भी अबला नारी आपको दिखे उनको भोजन करवाना है।
तीसरे उपाय में लाल किताब में यह बताया गया है। कि शनि भगवन को जो पसंद हो वो चढ़ाये
चौथा उपाय में यह बताया गया है कि। शमी के पेड़ के नीचे आपको दीपक जलाना है शनिवार के दिन। उसके अलावा कोई उचित जगह देखकर वहां शमी का पेड़ लगाएं। पेट दिखाने के लिए प्रस्थान करें।
पांचवी उपाय के हिसाब से लाल किताब ही बोलती है कि। घर में कभी भी पुत्र को अपने पिता का आदर नहीं करना चाहिए। हमेशा बड़ों का सम्मान करें घर में। साथ ही अपने जो शारीरिक स्वास्थ्य है उसका पूरा ध्यान देना है। कि जो शरीर के अंग है उनको पूरे सफाई से आपको रखना है।

शनि के रत्न

दोस्तों शनि भगवान के जो हैं आप रत्न धारण करके भी इस दोष से बच सकते हैं। सनी के लिए अच्छे नीलम रत्न को ही सबसे उचित माना जाता है। आपको नीलम की पहचान अच्छे से करनी आनी चाहिए। कुछ लोग लाजवर्त नाम के एक रत्न को धारण करके सोचते हैं नीलम में पहना हुआ है।
 सनी भगवान के लिए जो है 3 तरीके की मुखिया बनती है। उसमें जो पहली अंगूठी है वह नीलम रजनी की होती है। दूसरी अंगूठी लोग लोहे की अंगूठी भी पहनते हैं जो शनिवार आज के लिए होती है। तीसरा जो प्रकार है उसमें घोड़े की नाल को आपने अक्सर देखा होगा कि घोड़े की नाल खुद तो पहनते हैं। जो लोहे की अंगूठी होती है और जो उसने महाराज के नाम पर पहनते हैं। उनको लोहे को अंगूठी को शनि का छल्ला भी कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *