सुशील कुमार ओलंपिक मेडलिस्ट को कौन नहीं जानता, जैसा की सभी जानते हैं कुश्ती में ओलंपिक मेडलिस्ट सुशील कुमार के लाखों चाहने वाले हैं और नई पीढ़ी उनको अपना आइडियल मानती है उनकी पहलवानी को ध्यान में रखकर अपनी फिटनेस पर काम करते हैं।लेकिन किसी को नहीं पता होता भाग्य में आगे क्या लिखा है कब क्या हो जाए.उनकी पहलवानी के कारण उनको काफ़ी ऊंचाइयों पर पहुँचा दिया था लेकिन आज जब उनकी गिरफ्तारी हुई है उसके बाद से उनका भविष्य एकदम अंधकार में चला गया है।

उनकी अमीरी कि बात की जाए तो वह अपने विज्ञापनों के द्वारा ही लाखों रुपए कमा लिया करते थे लेकिन सब कुछ आज ख़त्म है आज सुशील कुमार जेल में हैं। बीते रविवार उन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था सुशील कुमार पर आरोप है कि उन्होंने छत्रसाल स्टेडियम में 23 वर्ष के पहलवान की पीट-पीटकर हत्या कर दी है। वहीं आपको बता दें ओलंपिक में दो बार पदक जीतने वाले भारत के पहले पलवान है सुशील कुमार। उनके पास कितनी संपत्ति है आपको बताते हैं उनकी संपत्ति का कितनी है?

इतनी है पहलवान सुशील कुमार की संपत्ति…

यूं तो सुशील की संपत्ति की कुछ ख़ास जानकारी नहीं है।लेकिन वर्ष 2020 तक सुशील कुमार के पास 5 करोड़ की संपत्ति आंकी गई है पुरस्कार के रूप में सुशील कुमार को कई बार लाखों का कैश मिला है। ये पुरस्कार उन्हें देश की अलग-अलग सरकारों ने कुश्ती में उनके बढ़िया प्रदर्शन को देखते हुए दिया है.

ओलंपिक में पदक जीतने के बाद रेल मंत्रालय की ओर से ₹50 लाख कैश और सरकारी नौकरी भी दी गई थी। दिल्ली सरकार की तरफ़ से भी उन्हें 25 लाख का नकद पुरस्कार भी मिल चुका है हरियाणा सरकार की ओर से भी सुशील कुमार को ₹25000 का पुरस्कार दिया गया था 2500000 रुपए की ही नगद पुरस्कार स्टील मंत्रालय की ओर से भी सुशील कुमार को दिया गया था।

दिल्ली के मॉडल टाउन में पत्नी के नाम से है फ्लैट…

जानकारी के अनुसार मॉडल टाउन के डी 10 / 6 ब्लॉक का मकान सुशील पहलवान और सागर पहलवान के बीच विवाद का कारण बना। इसी कारण से सागर की हत्या हुई ऐसा बताया गया है यह फ़्लैट सुशील कुमार की पत्नी सावी सहरावत के नाम पर है ज़मीन जायदाद के साथ सुशील कुमार एक बड़ा स्कूल भी चलाते हैं

दिल्ली यूपी बॉर्डर पर टोल का ठेका था सुशील के पास…

सुशील कुमार ने दिल्ली और गाजियाबाद के बॉर्डर पर टोल टैक्स वसूलने का ठेका दिल्ली नगर निगम से लिया था पुलिस के अधिकारिक सूत्रों के अनुसार सुशील कुमार ने यह ठेका 3 महीने चलाया था फिर इस काम में उसका ही अधिकार रहा और वह जो पहलवानी की ट्रेनिंग लेने आते थे युवा उनको ही टैक्स वसूलने में लगा दिया करता था।

सुशील कुमार की उपलब्धियां।

2014 स्वर्ण कॉमनवेल्थ गेम्स

2012 रजत लंदन ओलंपिक

2010 स्वर्ण कॉमनवेल्थ गेम्स

2010 स्वर्ण विश्व कुश्ती चैंपियनशिप

2009 स्वर्ण जर्मन ग्रां प्री

2008 कास्य बीजिंग ओलंपिक

2008 कास्य, एशियन कुश्ती चैंपियनशिप

2007, राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप

2005 स्वर्ण, राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप

2003 स्वर्ण, राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप

2003 कास्य, एशियन कुश्ती चैंपियनशिप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *