भारत में जहां एक और संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है। लाखों लोग इससे प्रभावित हो हे हैं। वहीं दूसरी ओर 2021 का पहला चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है I

कैसे हुआ “ताउ ते” नामकरण

अरब सागर में आ रहे तूफान ताउ ते का नामकरण म्यांमार ने किया है,यह नाम म्यांमार की एक छिपकली की प्रजाति के नाम के आधार पर दिया गया है, यह भारतीय तट पर इस साल का पहला चक्रवाती तूफान है I

‘ ताउ ते ‘ का असर कहां देखा गया

अरब सागर में आए साल के पहले चक्रवात ताउते ने गुजरात समेत कई राज्यों में तांडव मचाया और अब भी उसकी विनाश लीला जारी है। धनबाद समेत झारखंड के ज्यादातर हिस्से में चक्रवात का असर पिछले शुक्रवार से ही दिख रहा है। पहले जहां तापमान में बढ़ोतरी हुई वहीं अब बादल गरजने के साथ आंधी बारिश हो रही है।

सोमवार की देर रात गुजरात में जमकर तबाही मचाई। जानकारी के मुताबिक पूरे गुजरात में 40 हजार से ज्‍यादा पेड़ और एक हजार से अधिक बिजली के पोल उखड़ गए। वहीं इस साइक्‍लोन के चलते 7 लोगों की मौत हो गई है। 16 हजार से ज्‍यादा घरों को नुकसान पहुंचा है।

‘ताउ ते’ अब कहां होगी दस्तक

मौसम विभाग ने इसे लेकर अलर्ट भी जारी कर दिया है। मंगलवार की शाम के बाद देर रात भी बादल गरजने के साथ बारिश हुई। 19 और 20 मई को भी इस चक्रवात का प्रभाव यहां दिखेगा। उसके बाद हिमालय पहुंचकर इस चक्रवात का अस्तित्व समाप्त होगा। हिमालय पहुंचने तक तेज हवा के साथ बिजली कड़कने और बारिश जैसे हालात बने रहेंगे।

दिल्ली में कल 18 मई को हुई बारिश के बाद बुधवार सुबह से ही मौसम का मिजाज बदला हुआ है। ज्यादातर इलाकों में बारिश हुई है, जिसके बाद न्यूनतम और अधिकतम तापमान में गिरावट आई है।

आज बुधवार को दिल्ली पहुंचा का टाक्टे तूफान का असर, ऑरेंज अलर्ट के बीच 20 से अधिक इलाकों में बारिश के आसार कई इलाकों में कहीं मध्यम तो कहीं कहीं भारी आरिश होने के भी आसार हैं।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक बुधवार को बारिश के साथ 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है।मौसम विभाग की ताजा भविष्यवाणी के मुताबिक, अगले कुछ घंटों के दौरान दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश होने के आसार हैं।

मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए राजस्‍थान के 8 जिलों में अर्लट जारी कर दिया है। इनमें चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही, उदयपुर, जलोर और पाली जिले शामिल हैं। मौसम विभाग का कहना है कि इन जिलों में भारी बारिश हो सकती है और तेज हवाएं चल सकती हैं। इतना ही नहीं हवा में रेत होने के चलते यह खतरनाक रूप भी ले सकता है।

इन जिलों में बुधवार को भी भारी बारिश की संभावना है। आशंका है। बारिश के दौरान 50 से 60 KM किलामीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग ने जयपुर ने नागौर के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। नागौर जिले में कई स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। यानी नागौर में 64 से लेकर 200 एमएम तक बारिश हो सकती है।

हरियाणा में आज ताऊते तूफान असर दिखाएगा I प्रदेश में 19 व 20 मई को कई जगहों पर भारी बारिश हो सकती है, मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, प्रदेश के कई जिलों में दोनों दिन 40 से 50 किमी प्रति घंटा की गति से हवा चल सकती है I

मौसम विभाग ने उत्तराखंड में बेहद भारी बारिश के अलर्ट के साथ ही जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए भी इसी तरह का अलर्ट जारी किया है I वहीं पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी है I मौसम विभाग का अनुमान है कि 20 मई के बाद मौसम सामान्य की तरफ लौटेगा।

अगले हफ्ते “यास” चक्रवात की दस्तक की संभावना।

टॉक्टे चक्रवात के जाते ही फिर एक नया। चक्रवात दस्तक देने वाला है। इस बार बंगाल की खाड़ी में चक्रवात आ रहा है। खाड़ी में हलचल शुरू है और लो प्रेशर बनना शुरू हो चुका है। लो प्रेशर के पहले डीप डिप्रेशन उसके बाद साइक्लोन का रूप लेने की पूरी संभावना है।

बंगाल की खाड़ी में आने वाले चक्रवात का नाम ‘यास’ है जिसका नामकरण खाड़ी मुल्क ओमान ने किया है। वैज्ञानिकों के अनुसार बंगाल की खाड़ी में चक्रवात का जन्म हो चुका है। अगले हफ्ते इसका असर दिख सकता है। हालांकि धनबाद और आसपास इसका असर चक्रवात की दिशा तय होने के बाद ही स्पष्ट होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *