दोस्तों आप सब ने  किताबों में  बहुत सी प्रेम की कहानियां पढ़ी होगी। या फिल्मों में आजकल बहुत  सी प्यार की कहानियां देखने को मिल मिलती है। परंतु आज मैं आपको एक ऐसी दर्द भरी सच्ची प्रेम कहानी बताने  जा रहा हूं। जो शायद दुनिया की सबसे अनोखी प्रेम कहानियों में से एक होगी।

The Real Love Story

यह कहानी सिर्फ एक लड़के की नहीं है, बल्कि यह उन लाखों करोड़ों लोगों की कहानी है। जो किसी वजह से अपने प्यार का इजहार नहीं कर पाते, और उनके ख्वाब अधूरे ही रह जाते हैं। तो चलिए बिना देर किए कहानी पढ़ते हैं।

एक लड़का जो अपने प्यार को नहीं भूल पाया।

 यह कहानी गांव के एक गरीब सीधे-साधे खूबसूरत लड़के की  जिसके पास परिवार में उसके मां-बाप भाई-बहन सभी थे। परंतु दुख की बात यह थी कि उसके मां-बाप बहुत गरीब थे। इतना गरीब की बड़ी मुश्किल से उनका गुजारा हो पाता था। वह लड़का पढ़ने में काफी तेज और समझदार था।

एक दिन की बात है, खेल-खेल में गांव की ही एक खूबसूरत लड़की से  प्यार हो गया। वह लड़की काफी अमीर घर की इकलौती बेटी थी। वह उस लड़की से इतना प्यार करने लगा कि उसे देखें बिना उसका जीना मुश्किल हो गया। उस लड़के ने लड़की को मन ही मन में अपना बनाने की सोच लिया।

वह लड़का कहीं बार अपने प्यार का इजहार करने की कोशिश करता मगर कर नहीं पाया।  कई बार प्रेमपत्र  लिखा लेकिन वह उसे दे नहीं पाया क्योंकि उस लड़की के नजदीक जाते ही उसका दिल जोर-जोर से धड़कने लगता और वह घबराकर अपना इरादा बदल देता। शायद उसके मन में एक डर था कि कहीं वह इंकार न कर दे या उससे नाराज ना हो जाए। वह किसी भी कीमत पर उसे खोना नहीं चाहता था। देखते ही देखते 3 साल बीत गए मगर वे अपने प्यार का इजहार ना कर सके। बस जहां रहते वह एक दूसरे को देखने के बहाने ढूंढते रहते।

वह लड़का गरीब था और लड़की अमीर थी शायद यही सोच कर उसकी अपने प्यार का इजहार करने की कभी हिम्मत नहीं हुई। मगर उसका प्यार बिल्कुल सच्चा और पवित्र था। उसने कभी भी उस लड़की के बारे में गलत नहीं सोचा और ना ही उसे कभी गलत नियत से छूने की कोशिश की थी।हां कभी-कभार वे हंसी मजाक कर लिया करते थे परंतु उन्होंने कभी भी एक दूसरे से अपने प्यार का खुलकर इजहार नहीं किया था।

इधर धीरे धीरे उस लड़के के घर की आर्थिक हालत बिगड़ने लगी। अपने मां बाप और छोटे-छोटे भाई बहनों का एकमात्र सहारा होने की वजह से उसके ऊपर घर की जिम्मेदारी आ गई थी और वह इस जिम्मेदारी को समझता भी था। अंततः पैसा कमाने के लिए शहर तो चला गया लेकिन वह 15 साल का लड़का दिन भर काम करता और रात भर उस लड़की की याद में रोता रहता। ऐसे ही करीब 3 महीने बीत गए। एक दिन उसका दिल ऐसा उड़ा कि वह काम छोड़ कर शहर से अपने गांव भाग आया।

गांव आकर वह देखता है क्या कि उस लड़की की शादी कल ही होने वाली थी। अब तो उस लड़के को ऐसा लगा कि उसकी सारी खुशियां,सारी दुनिया ही उजड़ गई। लेकिन वह क्या करें एक तरफ प्यार था और एक भाई और एक बेटे का फर्ज था। और दूसरी बात  किे उसने तो कभी उससे अपने प्यार का इजहार भी तो नहीं किया था। इसलिए वह उस लड़की को भी दोष नहीं दे सकता था। इसके अतिरिक्त उसके पास और भी कई  सारी मजबुरियां थी। जैसे – वह आर्थिक रूप से इतना सक्षम भी नहीं था कि अपने महबूब को जीवन की सारी खुशियां दे सकें। दुसरी तरफ वह अपने गरीब परिवार का आखिरी सहारा था। आखिरकार उसने फैसला कर लिया कि उसे अपने बूढ़े मां बाप और छोटे-छोटे भाई बहनों की खुशी के लिए अपने प्यार की कुर्बानी देनी ही पड़ेगी। अगले दिन उसने किसी से कुछ नहीं कहा और चुपचाप शहर चला गया

उसने उस लड़की को लाख भुलाने की कोशिश की मगर कभी भी उसे भुला नहीं पाया। आज उस घटना के 17 साल हो गए हैं। उस लड़के की भी शादी हो गई है, बच्चे भी हो गए हैं,और वह अपनी जिंदगी में खुश भी हैं। लेकिन वह लड़का आज भी उस लड़की से उतना ही प्यार करता है, जितना पहले करता था। आज भी  वह लड़की रोज उसके सपनों में आती है और वह फूट-फूट कर रोने लगता है। उसके मन में आज भी एक कसक है कि उसने अपने प्यार का इजहार क्यों नहीं किया। आज भी वो उस लड़की को बताना चाहता है कि वह उससे कितना प्यार करता था। आज भी वह उस लड़की से सिर्फ एक बार पूछना चाहता है कि वह उससे प्यार करती थी या नहीं, मगर परिवारिक मर्यादा और सामाजिक दायरे उसे इसकी इजाजत नहीं देते। लेकिन वह उस लड़की से कल भी प्यार करता था, आज भी प्यार करता है, और हमेशा प्यार करता रहेगा।

इस कहानी की तीन महत्वपूर्ण सीख

पहली अगर आप किसी लड़की से सच्चा प्यार करते हैं तो ज्यादा इंतजार ना करें। क्योंकि वक्त का कोई भरोसा नहीं है कि कब क्या हो जाए। वरना आपको भी जीवन भर एक कसक के साथ जीना पड़ेगा क्योंकि ना तो बीता हुआ समय वापस आ सकता है और ना ही ये जिंदगी दोबारा मिल सकती है।

दूसरी बात अगर आप किसी से सच्चा प्यार करते हैं तो पहले प्यार को साइड में रखकर, अपने लक्ष्य पर ध्यान दें। और अपने जीवन में कामयाब होकर दिखाएं नहीं तो यह दुनिया आपका प्यार कभी पूरा नहीं होने देगी क्योंकि ये इस दुनिया का कड़वा सच है कि ये दुनिया जाति और धर्म नहीं बल्कि आपकी हैसियत देखती है।

तीसरी बात अगर आपको अपने प्यार और अपने परिवार में से किसी एक को चुनना पड़े तो बेशक अपने परिवार को ही चुनना।विशेषकर तब जब पूरा परिवार आप पर ही आश्रित हो। क्योंकि आप अपने मां-बाप के पहला प्यार हो। आपके मां-बाप आपकी खुशी के लिए हजारों कुर्बानियां देते हैं।इस सारी पृथ्वी पर आपके मां-बाप से ज्यादा और कोई आपसे प्यार नहीं कर सकता। इसलिए अपने मां-बाप की खुशी के लिए अपने प्यार को कुर्बान कर देना ही आपके लिए बेहतर होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *