अमिताभ बच्चन न केवल सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी खूब नाम कमाया है। बॉलीवुड के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन ने जितनी शोहरत कमाई है उतना ही उन्होंने पैसा भी कमाया है। यह सब कुछ अमिताभ बच्चन की कड़ी मेहनत का नतीजा है कि बच्चन परिवार को देश के बड़े अरबपतियों में से एक माना जाता है।

78 साल की उम्र होने के बाद भी अमिताभ बच्चन लगातार काम कर रहे हैं। करोड़ों रुपये के मालिक अमिताभ के परिवार के पास लगभग हर सुख सुविधा है, लेकिन आज हम उनके परिवार के उस सदस्य के बारे में बात करेगे जो पैसे-पैसे को मोहताज है।

400 मिलियन सम्पत्ति है अमिताभ की

अमिताभ बच्चन के पास अरबों रुपये की संपति हैं, लेकिन आज भी उनका एक परिवार दाने-दाने को मोहताज है। बता दें कि बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की कुल संपत्ति 400 मिलियन से ज्यादा है। अपने करियर में वह 180 से अधिक फ़िल्में कर चुके है,अमिताभ ने 1969 में ‘साथ हिंदुस्तानी’ से अपने फ़िल्मी करियर का प्रारम्भ किया था।

लेकिन आज हम एक ऐसे परिवार के बारे में बात कर रहे हैं जो बच्चन परिवार से बिल्कुल अलग है, और आज रोजी रोटी के लिए भी बहुत मोहताज है। यह आपके दिमाग में आ रहा होगा कि अगर अमिताभ के परिवार में सभी करोड़पति हैं, तो यह कैसे गरीब है? अमिताभ बच्चन के परिवार की बात की जाए तो ऐश्वर्या, अभिषेक और जया बच्चन सभी के पास बहुत पैसा है।

अमिताभ के बहनोई लगते हैं अनूप रामचंद्र

अमिताभ बच्चन के पास कई अरबों रुपये हैं, लेकिन वह आज दाने-दाने को मोहताज है। बच्चन परिवार का अनूप रामचंद्र के साथ एक बड़ा रिश्ता है। इसके बावजूद भी रामचंद्र जी आज गरीबी में ही जीने को मजबूर हैं। अनूप रामचंद्र का परिवार पहले पैसे वाला था, लेकिन समय ने उनको पैसे पैसे का मोहताज कर दिया है। अमिताभ और अनूप के बीच दूरी का मुख्य कारण जमीन विवाद माना जाता है।

इस वजह से अमिताभ ने अनूप से दूरी बना कर रखी हुई है और अमिताभ, अनूप और उनके परिवार से बिल्कुल दूर रहना पसंद करते हैं। अनूप ने अभिषेक बच्चन की शादी में शामिल नहीं होने का कारण भी बताया था कि वह पैसे की कमी के कारण वहां नहीं आ पाए थे। अनूप जी और उनकी पत्नी मृदुला, अमिताभ बच्चन के घर में रहते है, जिसको कटघर कहा जाता है ।

अनूप के अनुसार, उनका यह मकान पुश्तैनी है, जिसके बारे में अमिताभ और अनूप के बीच में काफी विवाद है। वैसे अमिताभ ने अनूप के परिवार से दूरी क्यों है इसका कारण अभी तक स्पष्ट नहीं है। खैर कुछ लोग इसके पीछे अनूप से माँग करते हैं कि हरिवंश राय की बचपन की सभी यादों को उनके पुश्तैनी घर में एक संग्रहालय बनाकर ही रखा जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *