महिलाओं को घर का केन्द्र बिन्दु माना जाता हैं , इस आधार से उनके उपर बहुत सारी जिम्मेदारियां भी जुड़ी हुई होती हैं .जिसको उन्हें पुरी निष्ठा और ईमानदारी से पुर्ण रूप से करना होता है।।कहते हैं कि ।,अगर एक महिला घर बसा सकतीं हैं तो ठीक इसके विपरित किसी घर को बर्बाद भी कर सकती हैं ,‌यह कहना ग़लत नहीं है। .

नारी चाहे तो वह कुछ भी कर सकती हैं। लेकिन ज्यादातर जगहों पर नारी को लक्ष्मी का रूप माना जाता है। और नारी भी उस घर को अपना स्वर्ग ही मानती है। वैसे भी भारतीय शास्त्रों में लिखा है जहां स्त्री को पुजा जाता है वहां सदा ईश्वर का वास होता है । वास्तु के अनुसार नारी ही घर के ऊर्जा का स्रोत होती है

महिलाओं को घर का कार्यभार संभालना आता है। महिलाओं को कोई भी प्रकार के कार्य को सही तरीके से करना अच्छा लगता हैं इस कारण ही आज हम ऐसे 10 वास्तु शास्त्र के उपाय लाए हैं जिसे महिलाएं अपनी दिनचर्या में अपनाकर अपने घर में सुख समृद्धि और शांति ला सकतीं हैं।आइए जानते उन 10 उपायों के बारे में:

10. घर की स्वच्छता का रखें खास ख्याल

वैसे तो हर कोई अपने घर की सफाई व सज्जा का कार्य करता है पर फिर भी हम कभी कभी घर की स्वच्छता से संतुष्ट नहीं होते हैं इसके लिए आवश्यक है की घर की महिलाएं ही स्वच्छता का कार्य करें जिससे घर स्वच्छ और सकारात्मक ऊर्जा से भरा होगा और हमें संतुष्टी भी होगी । इस प्रकार घर स्वच्छ और किटाणु रहीत भी हो जाएगा ।

09. सफाई के तुरंत बाद स्नान करे

हम सभी रोज स्नान करते हैं. स्नान करने से तन और मन स्वच्छ हो जाता है । महिलाएं सफाई से पहले ही स्नान करना चाहती है जो बिल्कुल सही नहीं है, महिलाओं को सफाई करने के तुरंत बाद स्नान करना चाहिए जिससे उनको स्वच्छता और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा जिससे वह और भी स्फुरती से अपना कार्य करेंगी ।

08. खाना पकाने से पहले नहाना चाहिए

कहा जाता है कि हमें ऊर्जा केवल भोजन से ही मिलती हैं वास्तु में भी ऐसा ही कहा गया है ।नहाने के बाद ही रसोई में खाना पकाना ज्यादा बेहतर होता है क्योंकि खाना उससे ज्यादा पौष्टिक और
साकारात्मक ऊर्जा से भरपूर होता है ऐसा भोजन शरीर बहुत ऊर्जा से भरा होता है

07. खाने से पहले भोग लगाना

कहते हैं भोजन से पहले भगवान का भोग लगाना चाहिए । व उसके पश्चात गाय कुत्ता या अन्य जानवर को भी कराना चाहिए इससे सुख शांति समृद्धि बनी रहती हैं व ईश्वर की कृपा प्राप्त होती हैं। खाने से पुर्व ईश्वर का भोग लगाना चाहिए इससे सुख शांति और समृद्धि का प्रतीक माना जाता हैं।

06. सुर्यास्त के बाद कंघी नहीं करना चाहिए

अक्सर महिलाओं को किसी भी शादी या फंक्शन में जाने से पहले बहुत से सज धज कर जाने का मन रहता है‌। आजकल फंक्शन भी ज्यादा तर रात में ही होते हैं ।परंतु महिलाओं को रात को बाल नहीं बनाने चाहिए यह अच्छा नहीं माना जाता । कहते हैं शाम को कंघा करने से लक्ष्मी मां नाराज हो जाती है।

05. चिड़चिड़ाना और गुस्सा करना

घर की शांति के लिए सबसे ज्यादा जरूरी माना जाता है घर के हर एक सदस्य खुशी व शांति से रहे । वैसे भी शांति रहने से ज्यादा जरूरी घर की महिलाओं का शांत और खुश रहना बार बार गुस्सा करना और चिडचिडाने से घर में नकारात्मकता का वास हो जाता है इसके लिए घर की लक्ष्मी को चिडचिडाना और गुस्सा नहीं करना चाहिए जिससे घर की शांति बनी रहती है.

04. पानी का स्त्रोत न हो दक्षिण पश्चिम कोने में

पानी का कोई भी स्त्रोत दक्षिणी पश्चिमी हिस्से में नहीं होना चाहिए जिससे वास्तु शास्त्र के अनुसार धन की हानि होती है । इसलिए माना जाता है पानी का स्त्रोत हमेशा उत्तर पुर्व दिशा में होना चाहिए । यह शुभ होता है इस बात को ध्यान रखना चाहिए कि पानी का स्त्रोत सदैव उत्तर पूर्व की दिशा में ही हों।

03. तिजोरी का दरवाजा उत्तर दिशा में खुलना चाहिए

हम सभी खास लक्ष्मी को तिजोरी में रखते है उसी तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए जिससे यह शुभ होता है । कयी लोग बिना वास्तु शास्त्र के ज्ञान के अलमारी या तिजोरी को कहीं भी रख देते हैं तिजोरी के एकदम सामने लाईट नहीं होना चाहिए . तिजोरी में कुबेर देवता की फोटो होनी चाहिए जिससे धन लाभ होता है । वास्तु शास्त्र के अनुसार ही तिजोरी को सही दिशा में रखना चाहिए।

02. घर के उत्तर पूर्व भाग का रखें खास ख्याल

वैसे जो परिवार को संभालती है उनके लिए परिवार का सदस्य और घर दोनों ही मायने रखता है घर उत्तर पूर्व हिस्सा वास्तु शास्त्र के अनुसार बहुत ही पवित्र माना जाता है इसलिए इस भाग को हमेशा स्वच्छ रोशनी से भरा रखना चाहिए । वह इस क्षेत्र में सिढीयो का निर्माण न करें.

01. घर के बीच का हिस्सा

घर के बीच का हिस्सा एकदम पवित्र माना जाता हैं हो सके तो वहां मंदिर का निर्माण किया जा सकता है या न हो तो केवल उस जगह को स्वच्छ और साफ रखे।या आपकी इच्छा हो तो उस स्थान पर थोड़ी ऊंचाई में तुलसी का पौधा लगा लें ।जो आपके परिवार के सुख समृद्धि का स्त्रोत होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *